बड़े भाई की मौत के जिम्मेदार छोटे भाई ने की खुदकुशी

0
11
Suicide

प्रॉपर्टी विवाद: 13 दिसंबर को दोनों भाइयों में हुआ था झगड़ा

  • कई दिनों से था फरार, नहर के पास शव बरामद

जालंधर (सच कहूँ न्यूज)। काला संघिया रोड़ पर प्रॉपर्टी विवाद में भाभी पर गोली चलाने व बड़े भाई की मौत के जिम्मेदार आरोपी छोटे भाई अमृतपाल सिंह ने खुदकुशी कर ली है। उसने फिल्लौर के नजदीक सतलुज दरिया की नहर में छलांग लगाकर जान दे दी। वारदात को अंजाम देने के बाद से ही वह फरार चल रहा था। परिवार के लोगों ने शव की पहचान कर ली है। पुलिस का मानना है कि वारदात को अंजाम देने के बाद लक्की ने फिल्लौर के नजदीक जाकर नहर में छलांग लगा दी। थाना डिवीजन नंबर 5 के एसएचओ रविंद्र कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि पुलिस टीम वहां जाकर जरूरी कार्रवाई कर रही है।

गुरविंदर सिंह की मौत के बाद प्रॉपर्टी को लेकर झगड़ा हो गया था

यह था मामला: बस्ती एरिया में काला संघिया रोड स्थित ईश्वर कॉलोनी पर इंदरसंस के नाम से प्लाईवुड फैक्ट्री चलाने वाले दो भाईयों मे पिता गुरविंदर सिंह की मौत के बाद प्रॉपर्टी को लेकर झगड़ा हो गया था। पिछले रविवार छोटा भाई अमृतपाल सिंह लक्की बड़े भाई जसविंदर सिंह राजा के घर आया। वहां दोनों भाईयों के बीच कोई विवाद हो गया। इस दौरान अमृतपाल लक्की ने भाभी शमिंदर कौर पर पिता गुरविंदर सिंह की लाइसेंसी रिवॉल्वर से गोली चला दी। गोली उसकी भाभी के सिर को छूकर निकल गई लेकिन पास ही खड़े बड़े भाई जसविंदर राजा का हार्ट फेल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने आरोपी भाई के खिलाफ आईपीसी की धारा 304, 307, 27-54-59 के तहत केस दर्ज कर लिया था।

70 लाख के लेन-देन का था विवाद: पुलिस जांच में यह सामने आया था कि दोनों के बीच 70 लाख के लेन-देन को लेकर झगड़ा चल रहा था। पिता गुरविंदर सिंह के निधन के बाद अमृतपाल सिंह उर्फ लक्की अपने बड़े भाई जसविंदर सिंह उर्फ राजा का 70 लाख रुपए का देनदार था। इसे लेकर पहले भी झगड़ा हुआ था। तब रिश्तेदारों और परिचितों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कर दिया था।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।