पटियाला : टंकी पर चढ़े मृतक के परिजन, मांगी नौकरी

0
Protest

रोष। पॉवरकॉम के अधिकारी वायदा कर नहीं मान रहे मृतक आश्रितों के वारिसों की मांगें | Protest

  • मृतकों के सदस्यों ने की नारेबाजी

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)। आज अपनी, मांगों को लेकर बिजली बोर्ड के मृतक आश्रित पानी वाली टंकी पर चढ़ गए, जिस कारण प्रशासन में भागदौड़ मच गई। इस दौरान मृतक आश्रितों के वारिसों की ओर से (Protest) धरना शुरू कर दिया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते मांगे न मानने के दोष लगाए। जानकारी अनुसार आज सुबह नौकरियां लेने के लिए दो महिलाओं सहित 10 जने पानी की टंकी पर चढ़ गए और उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इस मौके मृतक आश्रितों के नेताओं ने कहा कि वह पावरकौम मैनेजमेंट उनकी कोई बात नहीं सुन रही।

पानी की टंकी पर चढ़ने वालों में अरूण मित्तल बठिंडा, विजय कुमार बठिंडा, बलजीत सिंह तरनतारन व बुजुर्ग महिला परमजीत कौर लुधियाना व अन्य शामिल हैं। दूसरे तरफ समिति के दूसरे सदस्यों की ओर से टंकी नजदीक पक्का मोर्चा लगाते सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। नेताओं ने कहा कि पिछले 15 सालों से संघर्ष करते आ रहे हैं कि यदि किसी कर्मचारी की नौकरी दौरान मौत हो जाती है तो उसके वारिसों को माली सहायता के साथ ही एक सदस्य को नौकरी दी जाये, परंतु बिजली बोर्ड की ओर से 2010 से पहले मृतक के आश्रित को आज तक नौकरी नहीं दी और 2010 के बाद यदि किसी कर्मचारी की मौत होती है तो उसके पारिवारिक सदस्यों को नौकरी दी जाती है।

टंकी पर चढ़े सदस्यों में 2 महिलाएं भी शामिल | Protest

इस लिए हम 2010 से पहले के जो कर्मचारियों की मौत हुई है उनके वारिसों के हक बारे 10 सालों से संघर्ष करते आ रहे हैं, परंतु आज तक किसी को भी नौकरी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि 8 मार्च 2019 को पॉवरकौम के डायरैक्टर प्रशासनिक आरपी पांडव सहित अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग की गई थी और कहा गया था कि उनके लिए पॉलिसी तैयार की जा रही है और उनको उस समय भी टंकी पर उतार लिया था, परंतु यह सब झूठ ही साबित हुआ, जिसके बाद वह फिर टंकी पर चढ़े हैं, जिससे उनके साथ किया गया वायदा पूरा किया जाये।

इधर टंकी पर चढ़े इन व्यक्तियों के पास एसडीएम की ओर से आकर भरोसे की बात कही गई, परंतु इन की तरफ से नीचे उत्तरने से इन्कार कर दिया। इसके साथ ही मृतक आश्रितों के परिवारों की तरफ से टंकी के नीचे धरना लगाया हुआ है। शाम 7 बजे खबर लिखे जाने तक उक्त व्यक्ति टंकी पर ही चढ़े हुए थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।