अवैध कॉलोनियों पर चला प्रशासन का पीला पंजा

0
Yellow paw of administration on illegal colonies

 

ढाकल रोड के नजदीक रजबाहे पर काटी गई थी अवैध कॉलोनी, डीटीपी जींद ललित कुमार के नेतृत्व में पहुंची टीम

नरवाना (सच कहूँ न्यूज)। शहर में काटी जा रही अवैध कॉलोनियों पर बुधवार को प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए पीला पंजा चलाया। बुधवार दोपहर डीटीपी जींद ललित कुमार के नेतृत्व में एक टीम नरवाना पहुंची और भारी पुलिस बल के साथ ढाकल रोड के नजदीक रजबाहे पर काटी गई अवैध कॉलोनी में पहुंचकर तहस नहस कर दिया। इस दौरान कई नए बन रहे मकानों को भी गिराया गया। इस अवसर पर तहसीलदार नरवाना अजय कुमार बतौर डयूटी मैजिस्ट्रेट मौके पर मौजूद रहे। डीएसपी उचाना दलीप सिंह, सिटी थाना प्रभारी इंस्पैक्टर संजय कुमार भी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद रहे। मौके पर महिला पुलिस को भी तैनात किया गया। डीटीपी की टीम 2 जेसीबी मशीनों के साथ अवैध निर्माण को गिराए।

  •  लोगों ने मौके पर  जताया विरोध, पुलिस व लोगों के बीच हुई झड़प

जेसीबी मशीनों ने पहले प्लाटों में भरी गई नीवों को गिराया और फिर इसी कालोनी में बने 2-3 मकानों में तोड़-फोड़ शुरू की। जैसे ही जेसीबी ने मकानों में तोड़फोड़ शुरू की तो मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने अधिकारियों से मकान में तोड़फोड़ न करने की गुजारिश की लेकिन जब अधिकारी अपने निर्णय पर अडिग रहे और जेसीबी मशीन ने एक नए बन रहे मकान में तोड़फोड़ शुरू कर दी तो।  इस दौरान स्थानीय कुछ लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। जिस पर कुछ समय के लिए पुलिस व लोगों के बीच झड़प भी हुई। बाद में पुलिस ने सख्ती बरतते हुए लोगों को मौके से हटा दिया और अवैध निर्माण को गिराने की कार्रवाई जारी रखी। डीटीपी जींद ललित कुमार ने कहा कि नरवाना में 4 अवैध कालोनियों में बनाए जा रहे अवैध निर्माणों को गिराने की कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने कहा कि इन कालोनियों में किए जा रहे अवैध निर्माण को रोकने के लिए विभाग ने पहले कई बार नोटिस भी दिए हैं लेकिन लोगों ने अवैध निर्माण का कार्य नहीं रोका जिसके चलते यह कार्रवाई की है। डीटीपी ने कहा कि अवैध कालोनियों के खिलाफ विभाग का अभियान निरंतर जारी रहेगा  और कहीं पर भी अवैध कालोनी को पनपने नहीं दिया जाएगा।

  •  महिला व उसकी बेटी ने जताया विरोध

जब जेसीबी मशीन नए बने मकानों को गिरा रही थी तो एक महिला और उसकी बेटी ने जमकर विरोध किया और जेसीबी मशीन के आगे खड़ी हो गई। महिला व उसकी बेटी के आंखों से आंसू निकल रहे थे और लगातार अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ा रहे थे। महिला ने अधिकारियों को कहा कि पूरी जिंदगी की जमा पूंजी के बाद मकान बनाया जा रहा है लेकिन प्रशासन अवैध कॉलोनी का हवाला देकर तोड़ने पर जुटा हुआ है। महिला ने कहा कि दर्जनों मकान आस-पास बने हुए है।

  •  अधिकारियों की मिलीभगत से पनप रहा अवैध कॉलोनियों का धंधा:

एक गिराए गए मकान मालिक बलदेव राज ने बताया कि वह वैल्डिग की दुकान करता है और पूरी जिंदगी की जमा पंूजी करके बड़ी मुश्किल से मकान बनाया था। उसने कहा कि हमें अवैध कॉलोनी बारे कोई पता नहीं लेकिन जब तहसीलदार कार्यालय द्वारा जगह की रजिस्ट्री कर दी गई है तो अवैध कॉलोनी कैसे बन गई। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकारियों की मिलीभगत के कारण ही अवैध कॉलोनियों के प्लाटों को बेचा जा रहा है और आखिर में गरीब आदमी की जमा पूंजी से बने मकान को गिरा कर इतिश्री कर ली जाती है। बलदेव राज ने कहा कि अधिकारियों व कॉलोनीजर पर शिकंजा कसना चाहिए ताकि गरीब आदमी का नुक्सान ना हो।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।