विश्व थैलेसीमिया दिवस : डेरा श्रद्धालुओं ने 80 यूनिट रक्तदान कर निभाया इंसानियत का फर्ज

0
World Thalassemia Day

सराहनीय : डेरा सच्चा सौदा द्वारा रक्तदान कर बचाई जा रही हजारों जिंदगीयां (World Thalassemia Day)

बठिंडा(सुखजीत मान/सुखनाम)। ‘रक्तदान-महादान’ है यह सिर्फ एक स्लोगन ही नहीं वह सच्चा दान है, जिससे अनेकों जिदंगीयां बचाई जा रही हैं। देश भर में हजारों बच्चे थैलेसीमिया से पीड़ित हैं, जिनको ईलाज के लिए रक्त की बहुत अधिक जरूरत रहती है। ऐसे बच्चों की जरूरत हित और कोरोना महामारी कारण ब्लड बैंकों में रक्त की कमी के चलते आज विश्व थैलेसीमिया दिवस मौके डेरा सच्चा सौदा के ब्लॉक बठिंडा के शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सेवादारों ने 80 यूनिट रक्तदान किया। रक्तदान से पहले आज सुबह 4.30 बजे पूरे ब्लड बैंक को सेवादारों की ओर से सैनेटाईज भी किया गया।

हासिल हुए विवरणों मुताबिक बठिंडा सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक और गुप्ता ब्लड बैंक की ओर से रक्तदान की जताई गई। इच्छा के अंतर्गत बठिंडा के शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सेवादार आज दिन चढ़ते ही ब्लड बैंकों आगे पहुंचने शुरू हो गए थे। इस मौके सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक ने अपनी जरूरत मुताबिक 50 यूनिट और गुप्ता ब्लड बैंक ने 30 यूनिट खून हासिल किया। रक्तदान की इस मुहिम मौके कोरोना वायरस के मद्देनजर जो सावधानियां बरती जातीं हैं, उनका विशेष ध्यान रखा गया।

समूह रक्तदान मास्क पहनकर आए

हाथों को सैनेटाईज करने व तापमान चैक करवाने उपरांत ही रक्तदानी ब्लड बैंक में पहुंचे। यही नहीं जब एक रक्तदानी रक्तदान कर उठता तो उस बैड को पूरी तरह सैनेटाईज किया जाता। उसके बाद में ही दूसरे रक्तदानी को वहां रक्तदान लेने के लिए पाया जाता था। इस मौके विशेष तौर पर पहुंच डेरा सच्चा सौदा के सीनियर वाईस चेयरमैन जगजीत सिंह इन्सां ने बताया कि पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने मानवता भलाई के जो 134 कार्य चलाए हैं, उनकी शिक्षा के अंतर्गत ही डेरा सच्चा सौदा के सेवादार रक्तदान करते हैं|

और आज विश्व थैलेसीमिया दिवस मौके सिविल अस्पताल बठिंडा और गुप्ता ब्लड बैंक की जरूरत मुताबिक खूनदान किया गया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी जहां-जहां जरूरत रहेगी वह रक्तदान सहित ओर मानवता भलाई के कार्य करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी स्टेट के मुख्यमंत्री या देश के प्रधानमंत्री यदि किसी भी मदद के लिए डेरा सच्चा सौदा को संपर्क करते हैं तो हमारी संस्था हर समय मदद के लिए तैयार है।

#WorldThalassemiaDay

बाहर कैंप न लगने कारण था खून की कमी: रेडक्रॉस सचिव

बठिंडा रेडक्रास के सचिव दर्शन कुमार ने इस मौके कहा कि कोरोना महामारी कारण बाहर रक्तदान कैंप नहीं लगाए जा रहे इसलिए ब्लड बैंक में रक्त की कमी थी, जिसके लिए डेरा सच्चा सौदा जो रक्तदान के क्षेत्र में सबसे अग्रणी है, उन्होंने सेवादारों को रक्तदान की अपील की थी। उन्होंने बताया कि आज विश्व थैलेसीमिया दिवस के साथ-साथ विश्व रेडक्रॉस दिवस भी जुड़ा है, जिस मौके सेवादारों की ओर से रक्तदान करने पर वह उनका धन्यवाद करते हैं।

जरूरतमंदों की सेवा के लिए वॉलंटियर हर समय तैयार

सेवादारों ने कहा कि हम मीडिया के द्वारा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी तक अपनी आवाज पहुंचाना चाहते हैं कि देश में जो कोरोना कोविड -19 भयानक बीमारी फैली हुई है के अंतर्गत जरूरतमन्दों की सेवा के लिए हमारे वॉलंटियर हर सेवा के लिए तैयार हैं। 45 मैंबर पंजाब गुरदेव सिंह इन्सां ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण ब्लड बैंकों में खून की काफी जरूरत है। इस लिए ब्लड बैंकों की मांग पर आज विश्व थैलेसीमिया दिवस मौके सेवादारों द्वारा खूनदान किया गया है। उन्होंने कहा कि यदि आगामी दिनों में भी ब्लड बैंकों को रक्त की जरूरत पड़ी तो शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सेवादार हमेशा तैयार हैं।

रेडक्रॉस के फस्टएड ट्रेनर नरेश पठानिया ने इस मौके डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं की ओर से खूनदान करने पर धन्यवाद किया। इस मौके 45 मैंबर पंजाब गुरमेल सिंह इन्सां, शिन्दरपाल इन्सां, बलजिन्दर सिंह बाँडी इन्सां, प्यारा सिंह इन्सां, 45 मैंबर यूथ, 15 मैंबर चरनजीत इन्सां, खूनदान समिति जिम्मेदार लखवीर इन्सां, तरसेम इन्सां, विशाल इन्सां, गुरशरन इन्सां, गगन इन्सां, जिम्मेदार शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग धीरज इन्सां व अन्य जिम्मेदार सेवादार उपस्थित थे।

रक्तदानियों का तहदिल से धन्यवाद: इंचार्ज ब्लड बैंक

सिविन अस्पताल बठिंडा के ब्लड बैंक की इंचार्ज डॉ. करिश्मा ने कहा कि ब्लड बैंक में खून की कमी चल रही थी इसलिए उन्होंने विश्व थैलेसीमिया दिवस मौके डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों को खास तौर पर खूनदान की अपील की तो आज सेवादारों ने उनके बैंक की जरूरत अनुसार खूनदान किया, जिसके लिए रक्तदानियों का तह दिल से धन्यवाद। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में भी जब उनको जरूरत पड़ी तो यह रक्तदानी सेवादार रक्तदान करते रहेंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।