विश्व पुस्तक मेले में शारजाह होगा अतिथि देश, दिव्यांगों पर फोकस

0
 World, Book, Fair

राजधानी में 27वां विश्व पुस्तक मेला पांच जनवरी से शुरू

नई दिल्ली(एजेंसी)।  देश में पुस्तक संस्कृति को विकसित करने के लिए राजधानी में 27वां विश्व पुस्तक मेला ( World Book Fair) पांच जनवरी से शुरू हो रहा है जिसका उद्घाटन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर करेंगे। इस बार मेले की थीम दिव्यांगजनों की पढ़ाई होगी और अतिथि देश शारजाह होगा। समारोह के मुख्य अतिथि शारजाह राजकीय विभाग के कार्यकारी अध्यक्ष शेख फहीम बिन सुलतान अल कासिमी होंगे जबकि प्रमुख अतिथि शारजाह पुस्तकप्राधिकरण के अहमद बिन रक्कड़ अल आमेरी होंगे।

समारोह के विशिष्ठ अतिथि शारजाह के लेखक एवं पद्मश्री से सम्मानित जे एल कॉल होंगे जो राष्ट्रीय नेत्रहीन महासंघ के अध्यक्ष भी हैं। मेले में शारजाह के लेखकों, विद्वानों तथा प्रकाशकों का भी एक प्रतिनिधिमंडल भाग लेगा।राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा एवं निदेशक रीता चौधरी ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि इस बार मेली का थीम दिव्यांगजनों की पठन-पाठन की जरूरते हैं।

दिव्यांगों के वास्ते एक विशेष मंडप लगाया जायेगा

इसलिए दिव्यांगों के वास्ते एक विशेष मंडप लगाया जायेगा जहाँ ब्रेल लिपि में में 500 से आधिक किताबें, सी डी के अलावा अन्य पाठन सामग्री होगी और संकेत भाषा के दुभाषिये भी होंगे जो दिव्यान्गों का मार्ग दर्शन भी करेंगे। उद्घाटन समारोह में संकेत भाषा में राष्ट्रगान भी होगा। मेले में पैरा ओलम्पिक के खिलाड़ी एवं अर्जुन पुरस्कार विजेता खिलाड़ी भी चर्चाओं में भाग लेंगे जिनमे राजेंद्र सिंह, परविंदर सिंह, मनप्रीत कौर, सुवर्णा राज अतुल सत्य कौशिक आदि शामिल हैं..मेले में दिव्यंगों से जुडी प्रदर्शनी आदि भी लगाई जायेगी।

राष्ट्रीय आन्दोलन से सम्बंधित पुस्तकें होंगी।

उन्होंने बताया कि मेले में पहली बार दिव्यंगों पर विश्व के २७ देशों की करीब 50 वृत्त चित्र भी दिखाए जायेंगे .पुस्तक न्यास दिव्यांगों के लिए ब्रेल लिपी में 250 पुस्तकें छाप चुका है। इसके अलावा मेले में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती के अवसर पर एक विशेष प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जाएगा जिसमे गांधी जी और राष्ट्रीय आन्दोलन से सम्बंधित पुस्तकें होंगी।मेले में बीस से अधिक देश भाग लेंगे और कुल 600 से अधिक प्रकाशक 1350 स्टाल लगायेंगे।मेले में गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा दिव्यांग पात्रों की प्रसिद्ध कहानियों का लोकार्पण करेंगी। दिव्यंगजनों, वरिष्ठ नागरिकों और स्कूली बच्चों के लिए प्रवेश निःशुल्क होगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें