प्यारे सतगुरु जी की प्यार भरी चिट्ठी

0
Letter from Saint Gurmeet Ram Rahim Singh Insan

धन-धन सतगुरु तेरा ही आसरा

आदरणीय माता जी व प्यारे बच्चों व ट्रस्ट/मैनेजमेंट

सतगुरु राम की कृपा से मैं यहां पर ठीक हूँ व आपकी तन्दरूस्ती के लिए प्रभु से सुबह शाम प्रार्थना करता रहता हूँ। माता जी, आप अपनी दवाई सही समय पर जरूर ले लिया करें। समय-2 पर डॉ. से चैकअप भी जरूर करवाते रहें। सतगुरु ने चाहा तो मैं जल्दी आकर आप (माता जी) का पूरा ईलाज करवाऊंगा।
माता जी, बच्चों व प्यारी साध-संगत जी, आप सबको पता ही है कि कोरोना महा बिमारी चल रही है, इससे प्रभु सबको बचाएं इसके लिए मैं प्रभु से सुबह-शाम प्रार्थना करता रहता हूँ। सरकार जो भी निर्देश दे आप सबने उसे पूरा-2 मानना है और पूरा-2 सहयोग देना है।
इस बिमारी से बचने के लिए, मैं आपको कुछ सुझाव दे रहा हूँ : (1) सुबह-शाम कम से कम 15-15 मिनट प्राणायाम के साथ मालिक का नाम जरूर जपा करें (2) साबुन से दोनों हाथों पर झाग बनाके, एक-दूसरी हथेली पर ‘खाज’ करें ताकि नाखुन पूरी तरह साफ हो जाए। (3) घरेलु प्रोटीन जैसे चने, सोयाबीन, पनीर, दही, दूध, छाछ, दालें, पिस्ता इत्यादि व विटामीन उ जैसे नींबू, सँतरा, किन्नू, मौसमी, आँवला इत्यादि जरूर लें (4) तुलसी, नीम, चार-चार पत्ते, गिलोय (टहनी व पत्ते) 10 ॅे, लौंग-इलाईची 2-2, हल्दी, मुलेठी, अजवायन, सौंठ, सब एक-एक चुटकी, जीरा 5 ग्राम। 300 ॅे पानी में डालकर तब तक उबालें जब तक 150 ॅे ना रह जाए। अब इसे चाय की तरह धीरे-2 पीए। दिन में एक बार। 20 ग्राम गुड़ या शहद डाल सकते हैं।
साध-संगत अपने-2 घरों में रह कर शब्दाक्षरी, राम नाम के जाप का net पर कम्पीटीशन करते रहें। अपने-2 इलाके के DC  व राज्य के CM से परमीशन लेकर तन, मन, व धन से सृष्टि की पूरी सेवा करें पर अपना खुद का भी पूरा-2 ख्याल रखें जी।
डेरा सच्चा सौदा के ट्रस्ट के जिम्मेवार, एडम ब्लॉक, डेरे में रह रहे सेवादार भाई-बहिन खूब सेवा कर रहे हैं। सारे सेवादार व साध-संगत भी खूब सेवा कर रही है। ट्रस्ट जिम्मेवार व एडम ब्लॉक वाले ये ध्यान रखें कि सेवादारों को सेवा में कोई परेशानी ना आए। कोई भक्त किसी की भी निंदा ना करे, कोई बुरा कर्म ना करे। हमने सबको सेवा, सुमिरन करना सिखाया है सबसे बेगर्ज प्रेम करना सिखाया है व निंदा, चुगली से मन मते बुरे कर्मों से रोका है। अगर सरकार कि तरफ से ब्लड डोनेट की मांग आए तो ट्रस्ट जिम्मेदार व एडम वाले व सारे सेवादार मिलकर इस पुन्य कार्य को जरूर करें।
ट्रस्ट जिम्मेवार व एडम ब्लाक, सेवादार सब आश्रमों की सार संभाल समय-समय पर करते रहें। ‘‘नाम जपो, प्रेम करो, करो मानवता की सेवा। इन वचनों पर अमल करें तो सतगुरु देगा दो जहाँ का मेवा।।’’ सारी साध-संगत, माता जी व बच्चों को बहुत–2 आशीर्वाद
आपका
– दासन दास संत गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां

Letter-

 

 

 

 

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।