Breaking News

Live: विंग कमांडर अभिनंदन भारतीय सीमा में पहुंचे

Wing commander arrived in Indian territory

वीर तुम्हारा अभिनंदन है… अभिनंदन है…

नई दिल्ली (एजेंसी)। वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान पाकिस्तान की हिरासत से रिहा होने के बाद शुक्रवार रात वाघा सीमा से स्वदेश पहुंच गये। इस पर देशभर में खुशी मनायी गयी। वाघा सीमा पर पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों ने विंग कमांडर अभिनंदन को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों को सौंपा। विंग कमांडर ने नौ बजकर 22 मिनट पर भारतीय सीमा में कदम रखा और बीएसएफ के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। धीर गंभीर दिख रहे विंग कमांडर ने बीएसएफ के अधिकारियों से हाथ मिलाया। इसके बाद वह उन्हें लेने आयी वायु सेना के अधिकारियों की टीम से मिले और उन्हें मेडिकल जांच के लिए ले जाया गया। वायु सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उन्हें तुरंत मेडिकल जांच के लिए ले जा रहा है।

विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान के अधिकारियों ने बुधवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से हिरासत में ले लिया था। उनका लड़ाकू विमान मिग 21 उस समय क्षतिग्रस्त हो गया था जब वह भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमला करने आए पाकिस्तानी वायु सेना के लड़ाकू विमानों को खदेड़ रहे थे। विमान के क्षतिग्रस्त होने पर वह पैराशूट से उतरते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में पहुंच गये थे।गुरुवार को भारत के राजनयिक प्रयासों के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने घोषणा की थी कि उन्हें शुक्रवार को भारत को सौंप दिया जाएगा। आज सुबह से उनके भारत पहुंचने की प्रतीक्षा की जा रही थी और उम्मीद की जा रही थी कि अपराह्न तक वह स्वदेश पहुंच जाएंगे लेकिन पाकिस्तानी अधिकारियों ने उन्हें रात को वाघा सीमा से स्वदेश भेजा।

– न संधि, न शर्त…दुश्मन के दांत खट्टे कर लौटे जांबाज अभिनंदन

दूसरी तरफ भारत ने दुनिया के तमाम मुल्कों से संवाद किया और कूटनीतिक स्तर पर पाकिस्तान को आईना दिखाने का काम किया। इसका नतीजा ये हुआ कि 28 फरवरी की दोपहर संसद के साझा सत्र को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ऐलान कर दिया कि पायलट अभिनंदन को शुक्रवार को रिहा किया जाएगा।

ये ऐलान करते हुए इमरान खान ने कोई शर्त नहीं रखी। उन्होंने कहा कि शांति की दिशा में यह कदम अहम है। हालांकि, पहले ये कहा जा रहा था कि जिनेवा कंवेन्शन के तहत पाकिस्तान अभिनंदन को अपनी कैद में नहीं रख पाएगा। हालांकि, जिनेवा संधि तब लागू होती है जब दो देश आपस में जंग का ऐलान कर देते हैं। जबकि अभी तक भारत और पाकिस्तान ने जंग की घोषणा नहीं की है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि दोनों देशों के युद्ध में न होने के चलते अभिनंदन की रिहाई जिनेवा संधि के तहत नहीं कही जा सकती है। इस हिसाब से भारत अपने जांबाज विंग कमांडर को बिना किसी संधि या पाकिस्तान की शर्त के खैरियत के साथ अपनी धरती पर वापस लाने में कामयाब रहा है।

तमिलनाडु में पीएम नरेंद्र मोदी ने किया विंग कमांडर का ‘अभिनंदन’

कन्याकुमारी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को तमिलनाडु में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की बहादुरी का जिक्र करते हुए कहा कि आज पूरे देश को उन पर गर्व है। मोदी ने कहा, ‘आज हर भारतीय को विंग कमांडर पर गर्व है, जो तमिलनाडु से हैं।’ उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस पर गर्व है कि देश की पहली महिला रक्षा मंत्री भी तमिलनाडु से हैं। उन्होंने कहा, ‘उरी के बाद हमने देखा कि हमारे जवान क्या कर सकते हैं? पुलवामा आतंकी हमले के बाद भी हमने देखा कि जवानों की ताकत क्या है?’ उन्होंने भारत की कर्रवाई पर सवाल उठाने वालों को भी आड़े हाथों लिया कि आज जबकि पूरा देश सुरक्षा बलों के साथ खड़ा है, वे उन पर संदेह कर रहे हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top