…जब गुरुग्राम के डीसी ने निगली एलबेंडाजोल टैबलेट

0
103
... when DC of Gurugram swallowed albendazole tablets

सोमवार को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम की शुरूआत

सच कहूँ/संजय मेहरा गुरुग्राम। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम (डी-वार्मिंग) की शुरुआत के मौके पर सोमवार को सेक्टर-31 स्थित पोली क्लीनिक में गुरुग्राम के उपायुक्त डा. यश गर्ग ने एलबेंडाजोल टैबलेट का सेवन कराया। टैबलेट से किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता। इस बात का विश्वास दिलाने को उन्होंने स्वयं टैबलेट ली और निगल ली।

इसके बाद उन्होंने वहां मौजूद बच्चों, युवाओं को एलबेंडाजोल की टैबलेट खिलाई। जिले में 28 फरवरी तक अभियान चलाया जाएगा, जबकि मॉप अप राउंड 1 से 3 मार्च तक होगा। इस दौरान जिला में 1 से 19 साल तक के बच्चों व युवाओं को एलबेंडाजोल टैबलेट दी जाएंगी। इस दौरान लोगों को एलबेंडाजोल के फायदों के बारे में भी विस्तार से बताया जाएगा। उपायुक्त डा. यश गर्ग ने बताया कि यह टैबलेट बच्चों के लिए पूर्ण रूप से सुरक्षित है, इसका कोई साईड इफेक्ट नहीं होता।

सिविल सर्जन डॉ. विरेन्द्र यादव ने बताया कि यह टैबलेट अत्यंत फायदेमंद है, जो पेट के कीड़ो को मारती है। कई बार इस दवा का सेवन करने के बाद बच्चों को उल्टी, डायरिया या चक्कर आने की शिकायत हो जाती है, जिसका कारण बच्चों के पेट में कीड़ों का होना हो सकता है। ऐसी स्थिति में घबराएं नही और बच्चे को आराम करने के लिए लेटा दें। नोडल अधिकारी एवं उप सिविल सर्जन डॉ. ईशा नारंग ने बताया कि नंगे पांव फर्श पर घूमने से भी पेट में कीड़े होने की आशंका होती है, इसलिए यह जरूरी है कि हम फर्श पर नंगे पांव ना घूमें और अपने हाथों व शरीर को साफ-सुथरा रखे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।