Breaking News

लस्टर लॉस की रार से गेहूं की खरीद बंद

wheat

जिला कलक्टर से मिला प्रतिनिधिमंडल, जयपुर से जांच करने पहुंचे एफसीआई के एजीएम

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पिछले दिनों हुई बारिश ने किसानों के साथ-साथ व्यापारियों की भी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इसका कारण जिले की मंडियों में पड़ी लाखों क्विंटल गेहूं की भारतीय खाद्य निगम की ओर से खरीद नहीं की जा रही। एफसीआई अधिकारी लस्टर लॉस (चमक कम होना) बताकर गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद बंद कर दी है। इससे किसानों के साथ व्यापारियों में भी रोष है। गेहूं की खरीद बंद करने के विरोध में सोमवार को व्यापारियों व किसानों ने जंक्शन-टाउन में स्थित कृषि उपज मण्डी समिति कार्यालयों के समक्ष धरना देकर प्रदर्शन किया।

टाउन में व्यापारियों ने ताला जड़ मण्डी समिति कार्यालय का घेराव किया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि एफसीआई की ओर से गेहूं की खरीद तत्काल शुरू नहीं की गई तो आंदोलन तेज किया जाएगा। इस संबंध में व्यापारियों व किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल जिला कलक्टर से भी मिला। जानकारी के अनुसार पिछले सप्ताह हुई बारिश से गेहूं की चमक में फर्क आया है। गेहूं का रंग गोल्डन से सफेद में बदल गया है। गुणवत्ता में फर्क बताकर एफसीआई की ओर से जिले भर में गेहूं की खरीद बंद कर दी गई है।
खरीद नहीं हो पाने से किसान परेशान हैं। बरसात से पहले एफसीआई के अधिकारी किसानों को गेहूं में नमी की मात्रा ज्यादा बता सुखाने की हिदायत देकर टरकाते रहे।

जल्द किया जाएगा समस्या का निराकरण

किसानों व व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई वार्ता में जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने जानकारी दी कि उन्होंने इस बारे में शुक्रवार को राजस्थान सरकार को चि_ी लिख दी थी। राज्य सरकार से संदेश मिला है कि वे भारत सरकार को लिख रहे हैं। क्वालिटी इंस्पेक्टर जयपुर से आ गए हैं वो लस्टर लॉस की जांच करेंगे। जांच के बाद जो भी सरकार निर्देश देगी उसके हिसाब से गेहूं की खरीद की जाएगी। जिला कलक्टर ने इस समस्या का जल्द निराकरण कर लेने का आश्वासन प्रतिनिधिमंडल को दिया। प्रतिनिधिमंडल में व्यापार संघ अध्यक्ष पदमचंद जैन, व्यापार मंडल अध्यक्ष प्यारेलाल बंसल, कृषि उपज मण्डी समिति के पूर्व अध्यक्ष अरुण खिलेरी आदि शामिल थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019