गांव भगवानपुरा के किसानों की 46 एकड़ गेहूं व अवशेष जलकर राख

0
Wheat burning

किसान ठेके पर लेकर कर रहे थे कृषि

पटियाला/अमलोह। जहां पहले ही मौसम की बेरूखी के कारण हलका अमलोह में किसानों का बहुत बड़ा नुक्सान हो चुका है वहीं आज हलके गांव भगवानपुरा में बड़े स्तर पर किसानों की गेहूं व भूसा बनाने के लिए पड़ा अवशेष आग की भेंट चढ़ गया। आग गेहूं की फसल को इतने बड़े स्तर पर लगी कि देखते ही देखते खेतों के खेत जल कर राख हो गए।

गेहूं को लगी आग की खबर को सुनते ही यूथ अकाली दल के अध्यक्ष और हलका अमलोह के शिरोमणी अकाली दल के हलका इंचार्ज गुरप्रीत सिंह राजू खन्ना मौके पर तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे, जिन्होंने लगी आग को देखते हुए तुरंत जहां एसडीएम अमलोह और फायडब्रिगेड मंडी गोबिन्दगढ़ व नाभा को फोन किया वहीं उन्होंने मौके एकत्रित हुए किसानों को प्रोत्साहन देते हुए आग को बुझाने में अपना अहम योगदान दिया।

इस मौके पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए राजू खन्ना ने बताया कि पहले ही पंजाब की किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं व आज किसानों की जली गेहूं जोकि उनकी तरफ से बेटों की तरह पाली जाती है, को अग्नि भेंट होता देखकर उनका दिल ही नहीं कांप उठा बल्कि किसानों के हृदय भी इस जल रही गेहूं को देखकर भारी ठेस पहुंची। उन्होंने कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सरकार से मांग करते कहा कि पहले ही किसान कर्ज की मार नीचे दिन काट रहे हैं और आज जिन भगवानपुरा, भद्दलथूहा व चहल के किसानों की गेहूं व अवशेष जल कर राख हुआ है उनको 50 हजार रूपये प्रति एकड़ तुरंत मुआवजा दिया जाये, जिससे यह किसान अपना व अपना परिवार का पालन पोषण सही ढंग से कर सकें।

उन्होंने एसडीएम अमलोह आनंद सागर, तहसीलदार अमलोह, डीएसपी अमलोह गुरशेर सिंह संधू, थाना प्रमुख भादसों जैगोपाल, थाना प्रमुख अमलोह महेन्दर सिंह और फायरब्रिगेड मंडी गोबिन्दगढ़ के अधिकारियों का विशेष तौर पर धन्यवाद किया जिनकी तरफ से फोन करने पर तुरंत घटनास्थल पर पहुंच कर आग पर काबू पाया गया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें