फटाफट न्यूज़
   प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर हमला- हम चुप रहे तो क्रांतिकारी संविधान नष्ट हो जाएगा |    आज जो अन्याय के खिलाफ नहीं लड़ेगा, वो इतिहास में कायर कहलाएगा: प्रियंका गांधी |   नागरिकता कानून पर बवाल जारी, प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा में फूंकीं कई बसें |   भारत बचाओ रैली में बोले ज्योतिरादित्य सिंधिया- बदला नहीं, बदलाव जरूरी|   केजरीवाल को मिला PK का साथ, बने AAP के रणनीतिकार ।   हिमाचल प्रदेश: भारी बर्फबारी के बाद कुफरी में नेशनल हाईवे 5 बंद |
पंजाब

बरनाला : अमर सिंह इन्सां का पार्थिव शरीर मैडीकल रिसर्च के लिए दान

Welfare Work

सराहनीय प्रयास। रिश्तेदारों, स्नेहियों और शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों ने दी अंतिम विदाई | Welfare Work

बरनाला(सच कहूँ/जसवीर सिंह)। डेरा श्रद्धालु मिस्त्री अमर सिंह इन्सां नारायणगढ़ सोहियां के (Welfare Work) मरणोंपरांत पार्थिव शरीर को मानवता की भलाई हित मेडीकल रिसर्च के लिए दान किया गया, जिसे पारिवारिक सदस्यों, स्नेहियों और शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों ने भावभिन्नी अंतिम विदाई दी।

शरीरदानी अमर सिंह इन्सां ने डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी की पावन प्रेरणाओं पर चलते मरणोंपरांत शरीरदान करने के फार्म भर रखे थे। जानकारी देते ब्लॉक बरनाला/धनौला के ब्लॉक भंगीदास ठेकेदार हरदीप सिंह इन्सां ने बताया कि प्रेमी अमर सिंह इन्सां (77) पुत्र बखतौर सिंह नारायणगढ़ सोहियां वाले आज सुबह सीमित बीमारी के कारण सच्चखंड जा बिराजे,

 पार्थिव शरीर को ‘प्रेमी अमर सिंह इन्सां, अमर रहे, के नारों के साथ किया रवाना

पार्थिव शरीर को डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी पावन शिक्षाओं पर चलते मानवता भलाई के किए जा रहे 134 कार्यों की लड़ी के अंतर्गत आदेश मैडीकल कॉलेज और अस्पताल भुच्चो मंडी (बठिंडा) को दान किया गया। अमर सिंह इन्सां के पार्थिव शरीर को समूह परिवार के अलावा मित्र – स्नेहियों और शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्लफेयर फोर्स विंग के सेवादारों ने सलामी देकर ‘प्रेमी अमर सिंह इन्सां, अमर रहे, अमर रहे’ के नारों के साथ रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि इस से पहले भी ब्लॉक बरनाला/धनौला के अलग – अलग गांवों के अलावा स्थानीय शहर से भी बड़ी संख्या में मरणोंपरांत शरीरदान किए जा चुके हैं।

शरीरदानी अमर इन्सां ने जीते जी ही कर रखा था मरणोंपरांत शरीरदान का प्रण

  • शरीरदानी अमर सिंह इन्सां के पारिवारिक सदस्यों मक्खण सिंह इन्सां,
  • बलवीर सिंह इन्सां, राजदीप सिंह और कुलविन्दर सिंह आदि ने बताया
  • कि शरीरदानी अमर सिंह इन्सां ने पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी प्रेरणा पर चलते
  • अपनी अंतिम इच्छा से जीते-जी ही अपने मरणोपरांत अपने पार्थिव शरीर को
  • मेडीकल रिसर्च के लिए दान करने का फार्म भर रखा था।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top