गिद्दड़बाहा : सच-कहूँ प्रतिनिधि राज जिंदल बने शरीरदानी

0
Body-Donate-02

महादान : मृतक शरीर मेडिकल रिसर्च हेतु दान करना सराहनीय कदम: पूर्व विधायक | Body Donate

  • ’ पत्रकार जिंदल गिद्दड़बाहा ब्लाक के छठे शरीरदानी बने

गिद्दड़बाहा (सच कहूँ न्यूज)। डेरा सच्चा सौदा सरसा के श्रद्धालु राज कुमार जिंदल इन्सां प्रतिनिधि सच कहूँ गिद्दड़बाहा गत दिवस अपनी शवासों रूपी पूंजी को पूरा कर कुल मालिक के चरणों में सचखंड जा बिराजे थे। उनकी (Body Donate) मृतक देह को शुक्रवार को परिवार ने मेडिकल रिसर्च के लिए दान किया।

जानकारी के अनुसार राज कुमार जिंदल सच कहूँ के गिद्दड़बाहा से पत्रकार थे, जो कुछ समय से बीमार थे। इसी दौरान परिवार ने उनकी अंतिम इच्छा को पूरी करते हुए उनके नेत्र दान करने के साथ समूह जिंदल परिवार ने पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की प्रेरणा पर चलते हुए उनका मृतक शरीर मेडिकल रिसर्च हेतु जीवन ज्योति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज व अस्पताल अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) को दान किया।

बेटी दीया रानी ने भी दिया अर्थी को कंधा | Body Donate

इस दौरान मृतक देह को उनके दोनों बेटों जगप्रीत इन्सां, लवमीत इन्सां के अलावा बेटी दीया रानी ने भी अर्थी को कंधा दिया। इसके बाद उनकी मृतक देह को फूलों से सजी गाड़ी में रखकर उनके सिनेमा रोड, नजदीक गौशाला से बाजार से होते हुए भारू चौक गिद्दड़बाहा से समूह जिंदल परिवार व साध-संगत ने गाड़ी को रवाना किया। उनकी अंतिम यात्रा में शामिल समूह साध-संगत, जिम्मेवार सेवादार, रिश्तेदारों ने शरीरदारी राज कुमार जिंदल इन्सां अमर रहे के नारों भी लगाए।

सच कहूँ कार्यालय सरसा से विकास इन्सां विज्ञापन मैनेजर, भोला राम इन्सां, रविन्द्र इन्सां सीनी: सब-एडीटर, रघबीर प्रधान पूर्व विधायक गिद्दड़बाहा, शहर के गणमान्यजन व शहरवासी, ब्लाक की समूह साध-संगत, जिला 25 मैंबर, ब्लाक मैंबर, ब्लाक सुजान बहनें, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के सेवादारों, जिला श्री मुक्तसर साहिब, जिला फाजिल्का के समूह सच कहूँ प्रतिनिधियों व ब्लॉक भंगीदास जगतार सिंह ने शरीरदानी राज कुमार जिन्दल की धर्मपत्नी आशा जिन्दल, बेटे जगप्रीत जिन्दल, लवमीत जिन्दल, बेटी दीया रानी जिन्दल और समूह परिवार के साथ दुख व्यक्त किया।

नेक दिल इंसान थे शरीरदानी राज कुमार जिन्दल : जगतार सिंह

पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए पूर्व विधायक गिद्दड़बाहा रघुवीर सिंह और ब्लाक भंगीदास जगतार सिंह ने कहा कि शरीरदानी जिन्दल एक नेक व्यक्ति थे, उन्होंने सच्ची पत्रकारिता की सेवा निभाकर समाज को एक आइना दिखाया। जहां वह जीते-जी इंसानियत के काम आए, वहीं मरणोपरांत समूह जिन्दल परिवार ने उनका मृतक शरीर मेडिकल रिसर्च हेतु दान करना एक सराहनीय प्रयास है। उनकी इस निस्वार्थ सेवा को हमेशा याद रखा जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।