बठिंडा : मेडीकल रिसर्च के काम आएगी मंगा राम इन्सां की मृत देह

0
Body-Donate

सराहनीय प्रयास। मंगा राम इन्सां की आंखें दो अंधेरी जिंदगीयों को करेंगी रौशन | Body Donate

बठिंडा/गोनियाना मंडी( जगतार जग्गा)। पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी की पवित्र शिक्षाओं पर चलते गोनियाना मंडी के डेरा श्रद्धालु परिवार कीे ओर से आपसी सहमति से अपने पारिवारिक सदस्य का मरणोंपरांत शरीर मैडीकल रिसर्च के लिए दान किया गया। प्राप्त हुए विवरणों अनुसार मंगा राम इन्सां जो कि बीती रात अचानक दिल का दौरा पड़ने से कुल मालिक के चरणों में जा बिराजे मृतक मंगा राम इन्सां ने डेरा सच्चा सौदा की पवित्र शिक्षा अनुसार जीते-जी मरणोंपरांत अपने नेत्रदान और (Body Donate) शरीरदान करने के फार्म भरे हुए थे।

सेवादारों ने ‘मंगा राम इन्सां अमर रहे’ के नारों के साथ दी अंतिम विदाई

उनकी अंतिम इच्छा अनुसार परिवार की ओर से रक्तदान व नेत्रदान इकाई ब्लॉक महिमा गोनियाना के साथ संपर्क कर उनकी आंखें श्री गुरु गोबिन्द सिंह मैडीकल कॉलेज फरीदकोट की टीम को दान कर दी गई, जबकि उसका मृतक शरीर आदेश अस्पताल और इंस्टीट्यूट आॅफ मैडीकल कॉलेज भुच्चो मंडी को दान किया गया। इस मौके मंगा राम इन्सां की मृत देह को लेकर जा रही एम्बुलैंस के साथ-साथ चलते उनके रिश्तेदार, दोस्त, साध संगत और शाह सतनाम जी ग्रीन यह वैल्लफेयर फोर्स विंग के भाई और बहनों की ओर से ‘मंगा राम इन्सां अमर रहे’ के नारों के साथ अंतिम विदाई दी।

मरणोंपरांत शरीरदान करना प्रशंसनीय प्रयास : सन्दीप

  • बीजेपी के मंडल अध्यक्ष सन्दीप कुमार ने कहा कि वह इस परिवार का तह दिल से धन्यवाद करते हैं।
  • जिन्होंने मानवता भलाई के काम को मुख्य रख कर और सामाजिक
    रीति रिवाजों से तरफ हट कर यह प्रशंसनीय प्रयाय किया है।
  • उन्होंने कहा कि मंगा राम इन्सां का शरीर तो मैडीकल रिसर्च के लिए तो वरदान साबित होगा।
  • इन की आंखें भी दो अंधेरी जिंदगीयों को रौशनी प्रदान करने में सहायक होंगी।

मानवता भलाई को लेकर परिवार की सोच अत्यंत सराहनीय : धींगड़ा

शहर के प्रसिद्ध समाज सेवीं और प्रगतिशील सोच रखने वाले नेता बलविन्दर सिंह धींगड़ा ने कहा कि इस परिवार का जितना भी धन्यवाद किया जाये उतना ही कम है क्योंकि यह परिवार बहुत ही आगे की सोच रखने वाला परिवार है और परिवार की यह सोच अत्यंत सराहनीय है। उन्होंने कहा कि डेरा सच्चा सौदा की सोच और पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी की पवित्र शिक्षाओं पर चलते किया गया यह महान कार्य अजूबा है और साथ ही महानता पक्ष से भी बड़ा और महान काम है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।