अन्य खबरें

राज्यसभा की 3 सीटों पर वोटिंग मंगलवार को, बेंगलोर से लौटे कांग्रेस के विधायक

Vote, Rajya Sabha, MLA, Congress, BJP

शाह, ईरानी और अहमद पटेल मैदान में

गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में जबरदस्त राजनीतिक गहमागहमी के बीच सत्तारूढ़ भाजपा और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का बड़ा प्रश्न बन गई राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मंगलवार को मतदान होगा। विधानसभा के सचिव तथा रिटर्निंग आॅफिसर डी एम पटेल ने बताया कि मतदान सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगा। मतगणना पांच बजे से होगी। कांग्रेस के छह विधायकों के इस्तीफे के बाद 182 सदस्यीय विधानसभा में अब कुल 176 विधायक और इतने ही मतदाता हैं। यह चुनाव ओपन बैलेट और वरीयता प्रणाली से होगा।

यह चुनाव भाजपा की स्मृति ईरानी (केंद्रीय मंत्री) तथा दिलीप पंडया और कांग्रेस के अहमद पटेल ( सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव) के कार्यकाल पूरा होने के कारण हो रहे हैं। चुनाव में भाजपा की ओर से इसके अध्यक्ष अमित शाह तथा श्रीमती ईरानी और कांग्रेस छोड कर भाजपा में आये बलवंत सिंह राजपूत तीन उम्मीदवार हैं, जबकि कांग्रेस के एकमात्र उम्मीदवार के तौर पर सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल मैदान में हैं। जो जीतने पर पांचवीं बार संसद के उच्च सदन के सदस्य बन सकते हैं।

बता दें कि कांग्रेस के 57 में से 6 विधायकों के इस्तीफे के बाद इनमें से तीन भाजपा में शामिल हो गए थे।
182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के एक बागी समेत 122, कांग्रेस के 51 (बागी शंकर स्हििं वाघेला, जो भाजपा प्रत्याशी राजपूत के निकट रिश्तेदार हैं तथा उनके छह समर्थकों समेत) तथा राकांपा के दो और जदयू का एक विधायक है। शाह और ईरानी की जीत लगभग पक्की है। जबकि राजपूत तथा पटेल के बीच मुकाबला है।

नौ दिन बाद बेंगलोर से लौटे कांग्रेस के 44 विधायक

राज्यसभा चुनाव को लेकर जबरदस्त राजनीतिक गहमागहमी के बीच खरीद-फरोख्त की डर से बेंगलोर के निकट गत 29 जुलाई से एक रिसार्ट में रखे गए कांग्रेस के 44 विधायक सोमवार सुबह वापस लौट आए। यहां सरदार वल्लभ भाई पटेल हवाई अड्डे पर पहुंचे सभी विधायकों को कड़ी सुरक्षा के बीच एक लग्जरी बस में मध्य गुजरात के आणंद के पास स्थित निजानंद रिसार्ट में रखा गया है। बेंगलोर रवाना होने से पहले भी इनमें से कुछ को इसी फार्म हाऊस में रखा गया था। एक वरिष्ठ नेता ने बताया की सभी को वहीं से मतदान के लिए राजधानी गांधीनगर ले जाया जाएगा।

भाजपा ने भी जारी किया व्हिप

रास चुनाव के लिए सत्तारूढ़ भाजपा ने व्हिप जारी कर अपने विधायकोंं के नोटा के विकल्प के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। भाजपा ने यह भी दावा किया है कि इसका व्हिप पार्टी के कथित बागी विधायक नलिन कोटडिया, जो इसमे विलय हुई गुजरात परिवर्तन पार्टी की टिकट पर पिछला चुनाव जीते थे, पर भी तकनीकी तौर पर लागू होता है। पार्टी के सचेतक पंकज देसाई ने बताया कि पार्टी ने अपने विधायकों को मतदान के लिए उपस्थित रहने, अपने तीन प्रत्याशियों को ही वोट देने और नोटा का इस्तेमाल नहीं करने के लिए व्हिप दिया है जो इसके सभी 122 विधायकों पर लागू होता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top