Friends Optical and Eye Care
Breaking News

राजस्थान में चालक तोड़ रहे ट्रैफिक नियम, जा चुकी कई जानें

Traffic Rules

राजस्थान में लगातार होने वाली सड़क  दुर्घटनाएं काबू नहीं हो पा रही है।

शहरों में यातायात के हालात खराब होते जा रहे हैं। Violation of traffic rules

जयपुर (एजेंसी)। राजस्थान में लगातार होने वाली सड़क  दुर्घटनाएं काबू नहीं हो पा रही है। (Violation of traffic rules) जयपुर शहर में तो पिछले कई दिनों से जयपुर ट्रैफिक  डीसीपी राहुल प्रकाश ने कई अभियान चलाए हैं और इनका परिणाम भी सामने आया है। लेकिन अन्य शहरों में यातायात के हालात खराब होते जा रहे हैं। यही कारण है कि इस महीने दिवाली से पहले प्रदेश भर में सघन सड़क सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान आज से ही शुरू किया गया है। आज से शुरू होकर यह अभियान 23 अक्टूबर तक रहेगा।

यातायता के नियमों की पालना करें और वाहन पर काबू रखें : डीजीपी भूपेंद्

पुलिस अफसरों का कहना है कि अभियान को मुख्य उद्देश्य रहेगा कि लोग कैसे भी यातायता के नियमों की पालना करें और वाहन पर काबू रखें। राजस्थान पुलिस के मुखिया डीजीपी भूपेंद्र सिंह ने एक आदेश जारी कर समस्त रेंज महानिरीक्षकगण एवं पुलिस अधीक्षकों को इस अभियान की सफल क्रियान्विति के निर्देश दिए हैं। सभी जिलों में थानाधिकारी एवं वृताधिकारी को प्रभावी व पारदर्शी कार्रवाई एवं जागरूकता, प्रचार प्रसार व प्रवर्तन सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिए है, ताकि राज्य में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली शारीरिक क्षति एवं मृतकों की संख्या में कमी लाई जा सके।

इस अभियान में मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधान जैसे तेज गति से वाहन चलाना, लाल बत्ती का उल्लंघन, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करना, शराब पीकर वाहन चलाना तथा मालवाहक वाहन में यात्री बैठाना आदि प्रावधानों के उल्लंघन कर्ताओं के विरुद्ध ड्राइविंग लाइसेंस निलंबन की कार्यवाही हेतु परिवहन विभाग को आवश्यक रूप से प्रेषित की जाना सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए है।

  • राजस्थान में सड़क हादसों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है।
  • इस साल के नौ महीनों में ही हजारों की संख्या में लोगों की मौत हो चुकी है
  • और कई हजार लोगों को सड़क हादसों के कारण गंभीर चोटों का सामना करना पड़ गया है।
  • ऐसे में अब सड़क हादसे रोकना पुलिस के लिए चुनौती बनता जा रहा है।
  • आज से जो अभियान शुरु किया जा रहा है इस अभियान में बड़े वाहनों को खास तौर पर टारगेट करने की तैयारी है।
  • बड़े वाहनों के चलते एक साथ ही पांच से सात लोगों की एक ही झटके में मौत हो जाती है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top