राज्य

हांसी रोड पर बने आरओबी की ऊपरी सतह फिर टूटी

ROB Hansi Road

भिवानी(सच कहूँ न्यूज)। भले ही प्रदेश सरकार सूबे में सड़कों के निर्माण को लेकर वाहवाही लूट रही हो, लेकिन भिवानी में रेलवे पुल की बार-बार होती खस्ता हालत व इसको लेकर सांसद के सवाल सरकार की वाहवाही को आईना दिखाने को काफी हैं। यहां से गुजरने वाले परेशान लोगों से दो कदम आगे बढ़ते हुए सांसद ने विकास कार्यों में मिलावट को देश के पिछड़ने का कारण बताया है।

सूबे की मनोहर सरकार विकास के नाम पर सबसे ज्यादा गुणगान सड़कों के निर्माण को लेकर करती है। लेकिन इसी सरकार के दौरान भिवानी में हांसी रोड़ (ROB Hansi Road) पर जिला जेल के पास बने रेलवे आॅॅवरब्रिज की बार-बार होती खस्ता हालत अपने आप में ना केवल बड़ा सवाल है, बल्कि ये जानलेवा भी हो सकता है। इस आॅॅवरब्रिज के ठीक बीच का हिस्सा जो रेलवे पटड़ी के उपर बना है, वो एक-दो या पांच-छह बार नहीं, बल्कि 12-13 बार खस्ताहाल हो चुका है। इस हिस्से पर बनी सड़क बार-बार टूटने से ब्रिज के सरिये तक निकल आते हैं।

अधिकारियों से बात कर करवाएंगे समाधान: सांसद | ROB Hansi Road

वही जब इस बारे में सांसद धर्मबीर सिंह से बात कि तो उन्होंने ना केवल इस लापरवाही को जानलेवा बताया, बल्कि अपनी ही सरकार के सड़कों को लेकर किए जाने वाले गुणगान पर ही सवाल उठा दिए। सांसद ने कहा कि हमारे देश के पिछड़ने का सबसे बड़ा कारण सरकारी एजेंसियों व ठेकेदारों द्वारा विकास कार्यों में मिलवाट करना है। हालांकि साथ ही उन्होंने कहा कि वो पीडब्ल्यूडी व रेलवे विभाग के अधिकारियों से बात कर समाधान करवाएंगे।

मिलावट खोरों पर कार्रवाई होगी या नहीं ? | ROB Hansi Road

अब देखना होगा कि सूबे की सरकार गहरी नींद में सो रहे विभाग के अधिकारियों को नींद से जगा पाती है या नहीं। या फिर सांसद को अनसुना कर लोगों को यहां अपनी जान जोखिम में डालकर सफर करने पर यूं ही छोड़े रखेगी। साथ ही इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की भी जरूरत है कि आखिर इतनी जल्दी ये ब्रिज बार-बार खस्ताहाल क्यो हो रहा है। सांसद के कहे अनुसार जांच में दोषी पाए जाने वाले मिलावटखोरों पर कार्रवाई जरूरी है, ताकि आगे से इस प्रकार की मिलावटखोरी बंद हो जो ना केवल सरकार पर सवाल उठाती है, बल्कि जानलेवा भी हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019