सबसे बड़े काले धन का खुलासा: मिले 13,860 करोड़

0
  • प्रॉपर्टी डीलर से मिले 13,860 करोड़
  • आयकर विभाग ने कार्यालय और घरों की ली तलाशी

Ahmedabad: आयकर विभाग ने शुक्रवार को अहमदाबाद आधारित उस प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय एवं आवासीय परिसरों की तलाशी ली, जिसने सरकार की आय घोषणा योजना के तहत 13,860 करोड़ रुपये की अघोषित आय का खुलासा किया था। आयकर विभाग के अधिकारियों ने महेश शाह के परिसरों के अलावा उनकी चार्टर्ड अकाउंटेंट कंपनी ‘अप्पाजी अमीन एण्ड कम्पनी ’ के परिसरों पर भी तलाशी ली। हालांकि विभाग की ओर से इस तलाशी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन कि उनके मुवक्किल (महेश शाह के दोस्तों) से जुड़े लोगों के परिसरों सहित कई स्थानों पर तलाशी ली गई है। 67 वर्षीय महेश शाह मुख्य रूप से जमीन के कारोबार से जुडेÞ हुए थे। वे कुछ हृदय संबंधी बीमारियों की वजह से वह अस्वस्थ चल रहे थे। उनके सीए तहमुल सेठना ने मीडिया के समक्ष दावा किया कि शाह ने आय घोषणा योजना के तहत 13,860 करोड़ रुपये के नकद होने का खुलासा किया था। यह योजना बीते 30 सितंबर को खत्म हो गई। उनको पहली किश्त के रूप में 45 फीसदी कर के 25 फीसदी के रूप में 1560 करोड़ रुपये देना था। बीते 30 नवंबर आखिरी तारीख थी और वह आयकर विभाग के पास राशि जमा करने में नाकाम रहा।’ उनके अनुसार ऐसा अंदेशा है कि शाह ने जब आय की घोषणा की तो उनके पास इतनी राशि थी ही नहीं। सेठना ने कहा, ‘जब आयकर विभाग ने जांच की, तो उन्होंने तय तारीख के भीतर किस्त का भुगतान करने की शाह की क्षमता पर संदेह करना आरंभ कर दिया। 28 नवंबर तक आयकर विभाग ने उसका आईडीएस फॉर्म-2 रद्द कर दिया और अगले दिन तलाशी अभियान शुरू कर दिया।’ यह पूछे जाने पर शाह ने क्या ‘कई नेताओं और नौकरशाहों का कालाधन रख रखा था’ तो सेठना ने टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। सेठना ने बताया कि तलाशी अभियान 29 नवंबर, 30 नवंबर और एक दिसंबर को चलाया गया। उनके मुताबिक तलाशी के बाद से शाह के बारे में पता नहीं चल पाया है। Agency