हाथरस मामले की तुलना बारां के मामले से करना दुर्भाग्यपूर्ण: गहलोत

0
8
Ashok Gehlot, Government Service

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है जिसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है, लेकिन इस मामले की तुलना राजस्थान के बारां में हुई घटना से किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। गहलोत ने आज जारी बयान में कहा कि बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने एवं स्वयं की मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही है।

बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया। जांच के दौरान यह तथ्य सामने आया है कि लड़के भी नाबालिग हैं। फिलहाल जांच जारी है। उन्होंने कहा कि घटना होना एक बात है और काररवाई होना दूसरी। घटना हुई तो काररवाई भी तत्काल हुई। इस मामले को मीडिया का एक वर्ग और विपक्ष हाथरस जैसी वीभत्स घटना से तुलना करके करके प्रदेश और देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।