यात्री ध्यान दें! आज से दो दिन के लिए प्रदेश में फिर रोड़वेज हड़ताल

0
Travelers Note! Roadways Strike In The State For Two Days From Today

राज्य सरकार को होगा कभी पूरा नहीं होने वाला करोड़ों का नुक्सान

सच कहूँ/अश्वनी चावला चंडीगढ़।

राज्य में 720 प्राइवेट बसों को परमिट देने के खिलाफ आज से एक बार फिर हरियाणा रोडवेज की 4100 से ज्यादा बसों का चक्का जाम रहेगा। हरियाणा रोडवेज के मुलाजिम आज मंगलवार और बुधवार 2 दिन की हड़ताल पर जा रहे हैं, जिसके चलते हरियाणा सहित 10 राज्यों में हरियाणा रोडवेज की बस से नहीं चलेंगी। इस दो दिन के चक्का जाम से हरियाणा राज्य को करोड़ों रुपए का जहां एक तरफ से नुकसान होगा वही रोजमर्रा के कामों पर जाने वाले 14 लाख यात्रियों को अगले 2 दिन बस से ना मिलने के चलते मुसीबत झेलनी पड़ेगी। हरियाणा रोडवेज की तरफ से किए जा रहा चक्का जाम इस साल में पहली बार नहीं बल्कि तीसरी बार होने जा रहा है। इससे पहले पिछले महीने ही हरियाणा में चक्का जाम किया गया था तब सरकार ने अस्मा लगा कर काफी कर्मचारियों को जेल में भेज दिया था तो कईयों को सस्पेंड कर दिया गया था। हरियाणा रोडवेज के अधिकारियों को सरकार की तरफ से हड़ताल के दौरान स्थिति कंट्रोल करने के लिए आदेश तो मिले थे परंतु पिछली दो दिवसीय हड़ताल में रोडवेज के अधिकारी भी कोई अच्छा इंतजाम नहीं कर पाए थे जिसके चलते इस बार अधिकारियों के सहित सरकार को भी डर लग रहा है।

खट्टर की दो टूक: नहीं रुकेगी प्राइवेट बसों को परमिट देने की कार्रवाई

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 16 और 17 अक्तूबर को चक्का जाम करने वाले रोडवेज यूनियन को स्पष्ट कर दिया है कि इस बार उनके आगे हरियाणा सरकार किसी भी हालत में झुकने वाली नहीं है। मुख्यमंत्री की तरफ से अपने बयान में स्पष्ट कहा गया कि हरियाणा में जो 720 प्राइवेट बसों को शामिल किया जा रहा है उनका परमिट कैंसिल नहीं किया जाएगा। इस तरह की कोई भी मांग को मंजूर नहीं किया जाएगा। मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि रोडवेज के मुलाजिमों की हर मांग उन्होंने मांगी है परंतु यह मांग गलत होने के कारण वह नहीं मानने वाले हैं।
एस्मा से भी नहीं डरे रोडवेज मुलाजिम: किसी भी राज्य सरकार के पास हड़ताल पर गए कर्मचारियों के खिलाफ की जाने वाली कार्रवाईयों में से सख्त कार्रवाई एस्मा लगाना होती है और हरियाणा सरकार की तरफ से पिछले महीने रोडवेज कर्मचारियों पर अस्मा लगाकर उनकी हड़ताल को खत्म करने की कोशिश की गई थी परंतु हरियाणा के रोडवेज कर्मचारी अस्मा लगने के बावजूद भी सरकार के आगे झुके नहीं थे और इस बार भी अस्मा लगने के पूरे आसार हैं जिसके चलते वह पहले से ही तैयार हैं कि वह एस्मा लगने के बावजूद भी झुकने वाले नहीं हैं।
सभी रोडवेज डिपो पर लगी धारा 144: हरियाणा सरकार की तरफ से राज्य के सभी रोडवेज बस डिपो पर धारा 144 लागू कर दी गई है और साथ में ही कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम और पुलिस को आदेश जारी कर दिए गए हैं अगर इस हड़ताल के दौरान हड़ताली कर्मचारियों ने किसी भी तरह से सरकारी मशीनरी को नुकसान पहुंचाने या फिर सरकारी मशीनरी को चलने से रोकने की कोशिश की गई तो उन पर धारा 144 के तहत कार्रवाई करते हुए हैं, उनको गिरफ्तार किया जाएगा बल्कि उन्हें नौकरी से सस्पेंड भी किया जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो