आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कुल 20.97 लाख करोड़ के पैकेज

0
Nirmala-Sitharaman

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न विषम आर्थिक परिस्थितियों के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और संकट को एक अवसर के तौर पर भुनाने के लिए शुरू किए गए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत अब तक कुल मिलाकर 20 लाख97 हजार 53 करोड़ रुपए के पैकेज घोषित किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 12 मई को इस अभियान की घोषणा की थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने इस संबंध में लगातार पांच दिनों में संवाददाताओं को जानकारी दी है। श्रीमती सीतारमण ने आज इस अभियान के अंतिम चरण चरण के पैकेजों की घोषणा करते हुए कहा कि अब तक कुल 2097053 करोड़ रुपए के पैकेज घोषित किए गए हैं।

22 मार्च से दिए गए कर छूट से भी 7800 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है

उन्होंने कहा कि मार्च के अंतिम चरण में घोषित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख करोड़ रुपए के पैकेज और रिजर्व बैंक द्वारा किए घोषित 801603 करोड़ रुपए की मौद्रिक सहायता भी आत्मनिर्भर भारत अभियान में शामिल है। गत 22 मार्च से दिए गए कर छूट से भी 7800 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है और प्रधानमंत्री ने स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 15 हजार करोड़ रुपए की घोषणा की थी। इस तरह इसमें गत 12 मई को प्रधानमंत्री द्वारा घोषित पैकेज में रिजर्व बैंक और 22 मार्च के बाद घोषित कुल 994403 करोड़ रुपए शामिल है।

उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान की पहली किश्त 594550 करोड़ रुपए, दूसरी किश्त 3.10 लाख करोड़ रुपए, तीसरी किश्त 1.50 लाख करोड़ रुपए और चौथी एवं पांचवीं किश्त मिलाकर 48100 करोड़ रुपए की राशि शामिल है। इस तरह कुल मिलाकर 1102650 करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज 12 मई के प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद घोषित किए गए हैं। इस दौरान कई प्रशासनिक और विधियी संशोधनों को भी मंजूरी दी गयी है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।