टमाटर 60, 100 रुपये पहुंच गई भिंडी

0
Vegetable Prices

विडंबना। मजबूरी का फायदे उठा रहे कालाबाजारी करने वाले, तीन से चार गुणा बढे सब्जियों के रेट (Black marketing vegetable)

रोहतक (नवीन मलिक/सच कहूँ)। जनता कफ्यू के बाद सोमवार को फल-सब्जियों की मंडी खुली तो रेट सुनकर लोग हैरान हो गए। दो दिन के अंदर ही सब्जियों के रेट तीन से चार गुणा बढ़ गए, जिससे लोगों पर महंगाई की मार पड़ रही है। अब इसे मजबूरी कहे या फिर बीमारी का डर, लोगों के सामाने महंगी दरों पर सब्जी खरीदना ही मजबूरी है। एक तरफ तो प्रशासन दावा कर रहा है कि कालाबाजारी करने वालो के खिलाफ कड़ी कारवाई की जाएगी, लेकिन सब्जी आढ़तियों को किसी का कोई डर नहीं दिख रहा है। आढ़तियों का तो यहां तक कहना है कि स्थिति अगर यही रही तो दस गुणा तक सब्जियों के रेट बढ़ जाएंगे।

  • इसके पीछे कालाबाजारी व लोगों द्वारा स्टॉक एकत्रित करना है।
  • स्थिति यह है कि 10 से 15 रुपए बिकने वाला आलू ही 40 रुपए पार कर गया है।

स्टॉक एकत्रित के चलते बढ़े है सब्जियों के रेट

भिंडी के रेट ने तो कमाल ही कर दिया और सौ रुपए जा पहुंचा है। इसी तरह टमाटर ने दामों ने भी महंगाई को छुआ और 10 रुपए से 60 रुपए जा पहुंचा। तीन दिन पहले 10 से 15 रुपए बिकने वाला आलू ही 40 रुपए जा पहुंचा। 30 रुपए बिकने वाली घिया भी 50 रुपए के करीब जा पहुंची। खरीददारों का कहना था कि आखिर करे तो क्या करें। अब प्याज से कुछ राहत मिली थी, लेकिन दो दिन के अंदर ही प्याज पुराने रेटों की तरफ जा पहुंचा है।

  • सोमवार को मंडियों में प्याज की कीमत 40 से 50 रुपए रही।
  • शिमला मिर्च 50 से 70 रुपए, खीरा 15 से 40 रुपए, 8 रुपए मिलने वाली पालक भी 30 रुपए जा पहुंची है।

आढ़ती बोले-यही स्थिति रही तो बिगड़ जाएंगे हालात

सब्जी आढ़ती रामदास ने बताया कि कुछ व्यापारियों ने स्टॉक कर लिया है, जिसके कारण रेटों में बढ़ोतरी हुई है, अगर स्थिति यही रही और प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया तो 10 गुणा तक सब्जियों के रेट बढ़ जाएगे। सब्जी व्यापारी महेन्द्र ने बताया कि बेल वाली सब्जियों की शुरूआत हुई थी और रेट भी काफी कम थे, लेकिन कोरोना वायरस के चलते दो दिन के अंदर ही 3 से 4 गुणा बढ़ोत्तरी हुई है। यहां तक बैंगन, घिया, गोभी भी बीस से 25 रुपए महंगी हुई है। सोमवार को मंडियों में खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी थी और थोड़ी देर में सब्जियां हाथों हाथ बिकी है, लेकिन खरीददार महंगाई का रोना रो रहे हैं।

  • गृहणी पूजा, कोमल, कविता, अंजली, सोनिया, शीतल आदि ने बताया हैं।
  • पहले ही महंगाई ने बजट बिगाड़ रखा था।
  • अब दो दिन के अंदर जो सब्जियों के रेटों में बढ़ोतरी हुई है।
  • उससे बजट पूरी तरह से बिगड़ गया है।

परचून के सामान में भी बढ़ोतरी

  • कोरोना वायरस को लेकर परचून के रेटों में भी दुकानदारों ने 10 से 20 रुपए बढ़ा दिए हैं।
  • अधिकतर दालों के रेटों में भी इजाफा किया है।
  • साथ ही आटे का रेट में भी चार से पांच रुपए बढ़ोतरी की है।
  • लोगों की मांग है कि प्रशासन को इस और ध्यान देना चाहिए, ताकि लोग मजबूरी का फायदा न उठा सके।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।