बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए उन्हें दे अच्छा आहार

0
540

बच्चों के शारीरिक विकास के लिए पोषक तत्वों से भरपूर आहार की जरूरत होती है। शरीर में पोषण की कमी होने से न सिर्फ बच्चों को कई तरह की बीमारियां होने लगती हैं बल्कि उनकी लंबाई भी रुक जाती है। चूंकि एक उम्र के बाद बच्चों की लंबाई नहीं बढ़ती है इसलिए बचपन से ही उन्हें विभिन्न प्रकार के फल और सब्जियों सहित अन्य हेल्दी आहार देना चाहिए। रिसर्च के अनुसार, बच्चों की लंबाई उनके खानपान पर निर्भर करती है। यदि शुरूआत से ही बच्चों को विटामिन्स, मिनरल और फाइबर युक्त भोजन दिया जाए तो इससे शरीर का विकास थमता नहीं है और ना ही लंबाई रुकती है। बच्चों के खानपान पर ध्यान देने से वह खेलने कूदने और पढ़ाई में भी अव्वल रहता है और मानसिक विकास भी सही तरीके से होता है।

आइए जानते हैं बच्चों की लंबाई बढ़ाने के लिए उन्हें क्या खिलाना चाहिए…

दूध: हाइट बढ़ाने के लिए दूध का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, बढ़ते बच्चे के शरीर के लिए हड्डी को ढांचा माना जाता है। इसलिए, शरीर के विकास लिए हड्डियों का विकसित होना भी जरूरी होता है। यहां दूध मददगार साबित हो सकता है, क्योंकि यह कैल्शियम से समृद्ध होता है और कैल्शियम हड्डी के ढांचे (स्केलेटल), बोन मास और बोन डेंसिटी के विकास में मदद कर सकता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए दूध मददगार साबित हो सकता है।

सोयाबीन: अगर किसी बच्चे की हाइट नहीं बढ़ रही है, तो ऐसे में उनके आहार में सोयाबीन शामिल करना एक अच्छा उपाय हो सकता है। सोयाबीन प्रोटीन से समृद्ध होता है, जो शरीर के लिए जरूरी होता है। प्रोटीन हड्डियों और मांसपेशियों के निर्माण और विकास में मदद करता है। वहीं, एक वैज्ञानिक शोध से पता चलता है कि हाई प्रोटीन बच्चों में हाइट बढ़ाने का काम कर सकता है । फिलहाल, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है, जिससे कि सोयाबीन और हाइट बढ़ने का सटीक संबंध का पता चल सके।

बीन्स: एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक रिसर्च से यह पता चलता है कि बच्चों की लंबाई और वजन बढ़ाने में प्रोटीन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वहीं, जिन खाद्य पदार्थ में प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है, उनमें बीन्स भी शामिल है। ऐसे में माना जा सकता है कि बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए बीन्स का सेवन मददगार हो सकता है।

पत्तेदार सब्जियां: बच्चों के शारीरिक विकास और मानसिक विकास के लिए माइक्रो न्यूट्रिएंट्स की भी जरूरत होती है। ऐसे में माइक्रो न्यूट्रिएंट्स की पूर्ति करने के लिए कई सब्जियों और फलों के सेवन की सलाह दी जाती है। माइक्रो न्यूट्रिएंट्स से भरपूर आहार में पत्तेदार सब्जियों को विशेष स्थान दिया जाता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए उन्हें पत्तेदार सब्जी खिलाना फायदेमंद हो सकता है।

 

नट्स: बच्चों की हाइट बढ़ाने में नट्स का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, इसमें हाइट को बढ़ावा देने वाले दो जरूरी पोषक तत्व कैल्शियम और प्रोटीन मौजूद होते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध में भी इस बात की पुष्टि होती है कि कैल्शियम और प्रोटीन हाइट बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

सीड्स: नट्स की तरह ही सीड्स भी कैल्शियम और प्रोटीन के अच्छे स्रोत होते हैं, जैसा कि हमने ऊपर जानकारी दी है कि बच्चे के शारीरिक विकास में कैल्शियम और प्रोटीन दोनों ही मददगार होते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि किशोरावस्था के दौरान कैल्शियम का सेवन लड़कों में तेजी से हाइट बढ़ाने में सहायक हो सकता है । इसलिए, बच्चे की हाइट बढ़ाने के लिए सीड्स को भी दैनिक आहार में शामिल किया जा सकता है।

 

World Pulses Day

अनाज: बच्चों के खाने में अनाज को शामिल करने पर भी हाइट को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। यह कई तरह के माइक्रो न्यूट्रिएंट्स से समृद्ध होता हैं, जिनमें कैल्शियम, विटामिन के व सी, कॉपर, मैंगनीज, जिंक और आयरन शामिल हैं। ये पोषक तत्व हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम कर सकते हैं, जिसका लाभकारी असर बच्चों की लंबाई बढ़ने में भी दिख सकता है । फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

Health Tips, Quality, Important, Quantity

फल या फलों का जूस: यह बात तो लगभग सभी को पता है कि फलों के सेवन से स्वास्थ्य को लाभ पहुंचता है। इसका सकारात्मक प्रभाव बच्चों की हाइट पर भी दिख सकता है। दरअसल, फ्रूट कई तरह के पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं, इनमें कैल्शियम और प्रोटीन भी पाए जाते हैं। लेख में ऊपर बताया गया है कि ये दोनों पोषक तत्व हाइट बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। इसलिए, बच्चों के दैनिक आहार में फल या फलों के जूस को शामिल किया जा सकता है।

गाजर: बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए गाजर को उनके आहार में शामिल किया जा सकता है। गाजर को सब्जी और सलाद के रूप में लिया जा सकता है। गाजर में कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं, जिनमें से एक कैल्शियम भी है। कैल्शियम हड्डियों के निर्माण और मजबूती के लिए जरूरी होता है। इससे शरीर के विकास को बढ़ावा मिल सकता है। इसलिए, बच्चों के हाइट बढ़ाने के लिए गाजर को दैनिक आहार में शामिल किया जा सकता है।

Curd

दही: एनसीबीआई की वेबसाइट पर पब्लिश एक वैज्ञानिक शोध में दिया गया है कि दही का सेवन हाइट बढ़ाने में मदद कर सकता है। हालांकि, यह किस प्रकार यह काम करता है, इसके लिए अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

टोफू: बच्चों की लंबाई बढ़ाने के लिए उनके आहार में टोफू दिया जा सकता है। हाइट बढ़ाने के लिए कैल्शियम युक्त आहार के सेवन को बेहतर विकल्प माना जा सकता है। कैल्शियम हड्डियों के विकास और मजबूती में मुख्य भूमिका निभा सकता है। जिन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है, उनमें टोफू भी शामिल है।

अब बच्चों के हाइट में विकास को लेकर हो रही चिंता दूर हो गई होगी, क्योंकि हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद आप समझ ही गए होंगे कि उचित खान-पान से बच्चों के हाइट में वृद्धि हो सकती है। साथ ही बच्चों को इसके लिए किस तरह के आहार दें, यह भी आप जान गए होंगे। वहीं, बच्चे को अगर ऊपर दिए गए किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी है, तो उसे वो न दें, बल्कि उसकी जगह किसी अन्य खाद्य पदार्थ का सेवन कराएं। हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।