भ्रूण लिंग जांच गिरोह पर कसा शिकंजा, तीन गिरफ्तार

0
Doctor, Arrested, Fetal Gender Check, Machine Seized, Police, Rajasthan

डॉक्टर व नर्स सहित तीन को पकड़ा, रजिस्ट्रर्ड सोनोग्राफी मशीन सीज

  • तीन राज्यों में फैला था नेटवर्क, जांच शुरु

श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की पीसीपीएनडीटी टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए भू्रण लिंग जांच मामले में तीन राज्यों पंजाब, हरियाणा व राजस्थान में फैले नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। टीम ने पंजाब में दबिश देकर एमबीबीएस चिकित्सक, कथिक नर्स एवं उसके पति को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया। एनएचएम के मिशन निदेशक नवीन जैन के निर्देशों पर गत रात्रि चली इस कार्रवाई में पंजाब के मुक्तसर जिला मुख्यालय पर संचालित की जा रही रजिस्ट्रर्ड सोनोग्राफी सेंटर से मशीन भी जब्त की गई है। डिकॉय आॅपरेशन में श्रीगंगानगर टीम की मुख्य भूमिका रही और कार्रवाई को अंजाम तक पहुंचाया।

एमडी नवीन जैन के निर्देशों पर कार्रवाई

राज्य पीसीपीएनडीटी प्राधिकारी एवं एनएचएम के मिशन निदेशक नवीन जैन ने बताया कि मुखबिर के जरिए पुख्ता सूचना मिली थी कि पंजाब के मुक्तसर जिले में भू्रण लिंग जांच की जाती है। जिस पर टीम ने जाल बिछाया तो मुक्तसर जिले की मलोट तहसील के मोहल्लां गांव में स्थित महिला दलाल सुखवंत कौर पत्नी राजेंद्र सिंह जट सिख से संपर्क हुआ, जो कथित रूप से नर्स, दाई आदि के कार्य करती है।

दलाल ने भू्रण लिंग जांच करवाने के 50 हजार रुपए और अबोर्शन की स्थिति में बाद में पैसे देने की बात कही। सौदा तय होने पर महिला दलाल एवं उसका पति राजेंद्र सिंह पुत्र हरनाम सिंह अपनी बोलेरो गाड़ी लेकर हनुमानगढ़ आए और उन्होंने डमी गर्भवती व उसके पति को अपने गांव ले गई। वहां उसने पहले डबवाली में तो उसके बाद मलोट में भू्रण लिंग जांच करवाने की बात कहीं। आखिरकार, वह शाम को गर्भवती व उसके पति को लेकर रवाना हुई और मुक्तसर स्थित सचदेवा हॉस्पीटल में ले गई। जहां सोनोग्राफी सेंटर पर डॉक्टर जगदीश सचदेवा ने सोनोग्राफी कर गर्भ में बेटी होना बताया। इशारा मिलते ही टीम ने चिकित्सक, महिला दलाल व उसके पति को गिरफ्तार कर लिया।

श्रीगंगानगर का खौफ, करने लगे आईडी चेक

कार्रवाई के दौरान एक रौचक जानकारी भी सामने आई। दरअसल, दलाल को पहले बताया गया कि गर्भवती महिला श्रीगंगानगर की है तो उसने स्पष्ट मना कर दिया कि वह जांच नहीं करवाएगी और न ही चिकित्सक जांच करेगा। क्योंकि श्रीगंगानगर वाले लगातार कार्रवाई कर रहे हैं। महिला दलाल ने बताया कि श्रीगंगानगर के नाम से पूरे पंजाब में खौफ है। कार्रवाई में भी जिले की अहम भूमिका रही। श्रीगंगानगर से पीसीपीएनडीटी प्रभारी रणदीप सिंह, सीओआईईसी विनोद बिश्नोई, आशा प्रभारी रायसिंह सहारण सहित अन्य टीम में शामिल रहे।

टीम में ये रहे शामिल

एएसपी रघुवीर सिंह के निर्देशन में सीआई हरिनारायण शर्मा व अरुण चौधरी ने टीम को नेतृत्व किया। टीम में पुलिस स्टाफ लालचंद एवं राजेंद्र कुमार और पीसीपीएनडीटी प्रभारी रणदीप सिंह, सीओआईईसी विनोद बिश्नोई, आशा प्रभारी रायसिंह सहारण सहित अन्य शामिल थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।