पंजाब

हजारों रूपये की नगदी भी नहीं डुला सकी डेरा श्रद्धालु का ‘ईमान’

Thousands, Rupees, Not, Even, Cash

डेरा श्रद्धालु ने गुम हुआ पर्स उसके असली मालिक का लौटाया

बठिंडा/संगत मंडी।

कलयुग के समय में जहां हाथ को हाथ खा रहा है व थोड़े से रूपयों के पीछे एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति की जान तक ले लेता है, वहीं डेरा सच्चा सच्चा सौदा के श्रद्धालुु को पर्स में से मिली हजारों रुपये की नगदी भी ‘ईमान’ नहीं डुला सकी। उक्त श्रद्धालु द्वारा पर्स के असली मालिक की तलाश कर उसे सही सलामत नगदी सहित पर्स सौंप कर ईमानदारी की मिसाल कायम की गई। एकत्रित की जानकारी अनुसार गांव नरूआना के एक डेरा श्रद्धालु रणजीत सिंह पुत्र गुरचरन सिंह को ड्यूटी से शाम के समय घर जाते हुए घर के नजदीक से ही रास्ते में गिरा एक पर्स मिला, जिस में 7 हजार से अधिक की नगदी व कुछ जरूरी कागजात थे।

कागजात पर मोबाईल नंबर भी लिखा हुआ था, जब उक्त श्रद्धालु द्वारा जब उस नंबर पर फोन किया तो पता चला कि यह पर्स प्रगट सिंह पुत्र बलजीत सिंह निवासी बीड़ तालाब बस्ती नं. 3 का था। प्रगट सिंह ने बताया वह बठिंडा में एक लकड़ी के आरे पर मिस्त्री का काम करता है। शाम के समय उसने एक ग्राहक को लकड़ी बेची थी व उसके पैसे वह घर ही ले आया था जो कि आते समय रास्ते में उस का पर्स गिर गया।

डेरा श्रद्धालु द्वारा गणमान्यजनों की मौजूदगी में पर्स उक्त व्यक्ति को दिया गया। प्रगट सिंह द्वारा जहां डेरा श्रद्धालु रणजीत सिंह इन्सां की ईमानदारी की तारीफ की गई वहीं गांव के अन्य लोगों द्वारा डेरा श्रद्धालु की भरपूर प्रशंसा की। इस मौके उनके साथ भंगीदास सुरेश कुमार इन्सां, सुखदेव सिंह इन्सां व फौजी गुरप्रीत इन्सां आदि मौजूद थे।

 

 

HINDI NEWS से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FACEBOOK और TWITTER पर फॉलो करें।


 

 

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top