Punjab : बरसात से कहीं राहत तो कहीं आफत

0
Rain in Punjab

शहर की गलियों में भरा पानी, गांवों में जोहड़ हुए ओवरफ्लो

अबोहर(सचकहूँ/सुधीर अरोड़ा)। पिछले लगभग एक सप्ताह से भयंकर गर्मी के कारण हर जनमानस बारिश के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रहा था। गर्मी और उमस के मौसम में लोग कूलरों व एसी से बाहर निकलना मुनासिब नहीं समझते थे लेकिन आई बरसात से गर्मी से राहत दी लेकिन साथ ही आफत भी लेकर आई। एक ही बारिश ने शहर में विकास कार्यों की पोल खोल कर रख दी। बारिश के कारण शहर के निचले क्षेत्रों में जहां पानी भर गया वहीं ग्रामीण क्षेत्रोें में जलभराव देखने को मिला।

  • कई जगहों पर जोहड़ ओवरफ्लो हो गए, जिससे लोगों का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया।
  • गांव अमरपुरा में तो जलभराव इतना हो गया कि जहां से पैदल चलना भी मुश्किल है।
  • लोगों का कहना है कि यदि पानी निकासी जल्द न हुई तो उनके मकानों को भी नुक्सान पहुंच सकता है।

आंधी के कारण सड़कों पर पेड़ गिरने से रास्ते हुए ब्लॉक, वाहन चालक हुए परेशान

बारिश के कारण कई जगह बिजली गुल हो गई और लोगों को गर्मी में रात गुजारनी पड़ी। बारिश के कारण कई क्षेत्रों में पानी भरा गया है और यदि यह पानी जल्द न निकाला गया तो यहां मच्छर पनपने लगेंगे और बिमारियां फैलने का भय रहेगा। विकास कार्य वैसे ही धीमी गति से चल रहे हैं और कर्मचारियों द्वारा खोदे गए गढ्ढों में पानी भरा हुआ है जिस कारण कोई भी हादसा हो सकता है। इसके अलावा बारिश के साथ आई बांधी के कारण कई हाईवोल्टेज तारों वाले खम्बे गिर गए और रातभर बिजली गुल रही। खम्बों को ठीक करने में बिजली कर्मचारी लगे हुए हैं।

बिजली के खम्बे गिरने से बिजली विभाग को जहां नुक्सान झेलना पड़ा वहीं बिजली कर्मचारियों को भी लाईट ठीक करने के लिए भारी मुशक्कत करनी पड़ी। इसी तरह आंधी के कारण सड़कों पर पेड़ गिरने के कारण रास्ते ब्लॉक हो गए और वाहन चालाकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। वन विभाग के अधिकार इन पेड़ों को हटाने में दिन भर जुटे रहे। पेड़ गिरने से वन विभाग को भी काफी नुक्सान उठाना पड़ा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।