गहरी नींद में थम गई पूरे परिवार की सांसें

0
126
The whole family's breath stopped in deep sleep

फरीदाबाद में पति-पत्नी समेत 6 साल के बच्चे की मौत

  • ठंड से बचने के लिए कमरे में अंगीठी जलाकर सोया था परिवार

  • राजीव कॉलोनी में किराये के मकान में रहता था परिवार

सच कहूँ/राजेन्द्र दहिया फरीदाबाद। बुधवार को फरीदाबाद में उस समय सनसनी फैल गई जब सेक्टर-58 के राजीव कॉलोनी में पति-पत्नी सहित 6 साल के बेटे का शव घर में मिला। दंपती ठंड से बचने के लिए कमरे में अंगीठी जलाकर सोए थे। जिससे तीनों का दम घुट गया। पुलिस के मुताबिक यह मृतक बिहार के लखीसराय के रहने वाले था। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तीनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार राजीव कॉलोनी में रहने वाला अमन (24 वर्षीय) अपनी पत्नी प्रिया (21 वर्षीय) और 6 साल के बेटे मानव के साथ किराए के मकान में रह रहा था। अमन कुमार सेक्टर-24 स्थित एक निजी कंपनी में नौकरी करता था।

बताया जा रहा है कि मंगलवार रात ठंड होने के कारण ये लोग कमरे में अंगीठी जलाकर सो गए। जिसके बाद गहरी नींद में तीनों की दम घुटने से मौत हो गई। इस बात का पता बुधवार सुबह तब चला, जब मकान मालिक ने पहुंचकर दरवाजा खटखटाया। कोई जवाब न मिलने पर मकान मालिक सुकेश ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अमन उसकी पत्नी प्रिया और बेटा मानव मृत पड़े हुए थे। पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल स्थित मोर्चरी में भिजवा दिया है। साथ ही परिजनों और रिश्तेदारों को घटना की सूचना दे दी है।

कोयले से निकली है कॉर्बन मोनोऑक्साइड गैस

गौरतलब है कि कड़ाके की सर्दियां शुरू हो चुकी हैं। ऐसे में लोग ठंड से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय करेंगे। कमरों को गर्म रखने के लिए, अलाव, अंगीठी और हीटर जैसे उपकरण जलाए जाएंगे, लेकिन कमरों को गर्म रखने के लिए ये उपाय आपके लिए जानलेवा भी हो सकते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान रहें। अंगीठी में इस्तेमाल होने वाले कोयले या लकड़ी के जलने से कॉर्बन मोनोऑक्साइड के अलावा कई जहरीली गैसें निकलती हैं, जो जानलेवा साबित हो सकती हैं। अंगीठी ही नहीं, इस तरह का खतरा रूम हीटर से भी हो सकता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।