सरपंच बहू ने ‘चकजालू’ को भारत के साथ विश्व में दिलवाई पहचान

0
Chakajalu-Village

धीरे-धीरे पंचायती चुनाव की सरगर्मियां गांव में नजर आने लगी है। युवाओं से लेकर गांव के बुजुर्ग एक दूसरे की नब्ज टटोलने में लगे हुए। वर्तमान सरपंच जहाँ अपने पाँच साल के कार्यकाल में करवाए गए विकास कार्यांे के बल पर दोबारा चुनावी समर में उतरने की जुगत बैठा रहे हैं तो वहीं भावी सरपंच विकास करवाने का दम भरकर किस्मत आजमाने को आतुर हैं। आज सच-कहूँ अपने पाठकों को डबवाली उपमंडल के उस गाँव की ग्राउंड रिपोर्ट से रूबरू करवा रहा है जिसमें कोई भी अंगूठा टेक नहीं है यानि सभी शिक्षित है। वो गाँव है चकजालू है। गाँव की बारहवीं तक पढ़ी बहू बिमला देवी गाँव के विकास पर 60 लाख रूपये खर्च करने का दावा किया जा रहा है। इन दावों में कितनी है सच्चाई पढ़िये गोरीवाला सच कहूँ संवाददाता अनिल की खास रिपोर्ट:

  • वर्ल्ड बैंक गाँव को गोद लेकर कर रहा ठोस कचरा प्रबंधन पर कार्य  (Chakajalu Village)

सच कहूँ/अनिल  गोरीवाला। क्षेत्रफल की दृष्टि से डबवाली खंड का छोटा सा गाँव चकजालू विश्व पटल पर अपनी अलग पहचान संजोए हुए हैं। गाँव को वर्ल्ड बैंक ने गोद ले रखा हैं तथा ग्रामीणों को तरल व ठोस कचरा प्रबंधन के गुर सिखाए जा रहे हैं। चकजालू सिरसा जिले का ऐसा गांव है जहां स्कूल के बच्चों का ड्रेस कोड भारतीय सेना की वर्दी है। 1100 की आबादी व लगभग 565 मतदाता और 800 एकड़ वाले गांव के विकास पर सरपंच बनी गाँव की बहू बिमला देवी ने सरपंच का पद संभालने के बाद गांव के विकास में काफी योगदान दिया। गांव में 6 वार्ड पंचों के सहयोग से समान विकास कर 60 लाख की राशि गांव के विकास कार्य पर खर्च की है।

वर्षां पुरानी समस्याओं के समाधान के साथ करवाया गाँव का अभूतपूर्व विकास

12वीं पास सरपंच बिमला देवी ने पानी की निकासी को लेकर आ रही समस्या का समाधान कर वर्षों पुरानी समस्या का समाधान कर ग्रामीणों को राहत प्रदान की। 9 लाख रूपये की अनुमानित लागत से सीवरेज व्यवस्था को विस्थापित कर गांव के बाहर एक बहुत बड़े जलाशय के अंदर पानी को एकत्र किया जाता है। जिसे गांव के कि सान निकासी के पानी को अपने खेतों में प्रयोग में ला रहे हैं। सीवरेज सिस्टम की व्यवस्था हो जाने से गांव में बरसात के मौसम में अव्यवस्था देखने को नहीं मिलती है। इंटरलॉकिंग गलियां,12 इंच की पाइप पशुओं के पीने के पानी के लिए नहर से जोड़ी गई है। स्कूल के रास्ते इंटरलॉकिंग,श्मशान घाट मे शेड का निर्माण, शमशान भूमि मे नलकूप,गोगामेडी में शेड का निर्माण,दुकानों का निर्माण,मिनी स्टेडियम,नालियों की रिपेयरिंग,जोहड़ की चारदिवारी,स्कूल में रंग रोगन की व्यवस्था की गई।

इन कार्यों के लिए प्रयास जारी

वाटरवर्कस की रिपेयरिंग का एस्टीमेट बनाकर विभाग को भेजा गया है। नहर की रिमॉडलिंग का इस्टीमेट बनाकर संबंधित विभाग को भेजा गया है। ढ़ाणियों में पेयजल व्यवस्था का अभाव, शमशान भूमि की चारदिवारी,पंचायती खाल का पुर्ननिर्माण करवाने की योजना के लिए ग्राम पंचायत प्रयास कर रही है।

 इनमें मिल चुका है सम्मान

  •  2016 जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के तहत उपायुक्त द्वारा स्वच्छता के लिए सम्मानित।
  •  2016 उत्कृष्ट कार्यों के लिए जिला प्रशासन सिरसा द्वारा प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित।
  •  2017 में स्वच्छ भारत मिशन के तहत अवार्ड प्राप्त।
  •  2017 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छ शक्ति अभियान के तहत सम्मानित।
  •  2019 में उपायुक्त द्वारा राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया गया निर्मल पुरस्कार से सम्मानित।
  •  2019 नशा मुक्ति के लिए पुलिस अधीक्षक से सम्मानित।
  •  निर्मल गांव के तौर पर राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित।
  •  ग्राम पंचायत खुले में शौच मुक्त गांव के लिए सम्मानित।
  •  ग्राम पंचायत शत प्रतिशत नामांकन अभियान को लेकर उपायुक्त द्वारा ग्राम पंचायत में विद्यालय सम्मानित।
  •  महिला दिवस पर सरपंच को प्रधानमंत्री द्वारा सम्मानित।

सरपंच बिमला देवी ने कहां की सामान्य सीट होने के बावजूद भी महिला सरपंच का चुना जाना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। क्योंकि समाज की सभी रूढ़िवादी सीमाओं को लांघकर सरपंच बनना मेरे लिए काफी चुनौती भरा था। मैंने गांव की महिलाओं को पर्दा प्रथा से ऊपर उठाकर सामाज मे कुछ कर गुजरने के लिए प्रेरित किया है। महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया। आज मैं गांव की बहू होने के बावजूद भी सभी के बीच में बैठकर गांव के विक ास कार्यों की रूपरेखा तैयार कर रही हूँ।

पूर्व सरपंच ने की ग्राम पंचायत कार्यों की सराहना

पूर्व सरपंच देवीलाल ने कहा कि मौजूदा ग्राम पंचायत ने गांव की पहचान विश्व स्तर पर बनाई है। उनके कार्यकाल में भी गाँव का खूब विकास हुआ है। लेकिन मौजूदा ग्राम पंचायत ने विकास के साथ-साथ गाँव को देश के साथ विश्व में पहचान दिलवाई है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।