बिजली मंत्री के आदेशों के बाद भी नहीं हुआ बिजली व्यवस्था में सुधार

0
The power system did not improve even after the orders of the power minister

ग्रामीणों ने दी दौबारा धरना देने की चेतावनी

डबवाली/राजमीत इन्सां। उपमंडल के गांव चौटाला में पिछले 25 दिनों पहले आई तेज आंधी व बरसात से बिजली पोल टूट गए थे। जिसके चलते किसानों की खेतों व ढाणीयों की बिजली गुल हो गई थी। 25 दिन बीत जाने के बाद भी समाधान न किए जाने को लेकर सोमवार को ग्रामीणों ने बिजली विभाग के खिलाफ रोष जाहिर करते हुए एसडीओ को शिकायत देकर लापरवाह अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।  ग्रामीण दया राम उलानीया, राकेश फगोडिय़ा, लीलाधर, अनिल कुमार, सिकंदर सिंह, साजन, आसा राम व अन्य ने बताया कि हनुमानगढ़ बाई पास रोड के समीप उनकी करीब दस ढाणीयां हैं। जिनमें पिछले 25 दिनों से बिजली सप्लाई ठप्प है। मोटरें नहीं चल रही है, इनके खेतों में फसलें सूख रही हैं और टूटे हुए बिजली पोल को दुरुस्त करने की एवज में कर्मचारी रिश्वत की मांग करते हैं। जिसके चलते ग्रामीणों में रोष बना हुआ है। ग्रामीणों ने एसडीओ आसाखेड़ा को शिकायत देकर आरोपी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

The power system did not improve even after the orders of the power minister (2)

उल्लेखनीय है कि राजनीति की नर्सरी कहे जाने वाले गांव चौटाला में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला सहित पांच विधायक हैं, फिर भी बिजली व्यवस्था ठप्प है। जिसको लेकर ग्रामीणों ने पहले भी 33 केवी बिजली घर में धरना प्रदर्शन किया था। जिसके बाद मामला बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला के संज्ञान में आने के बाद उन्होंने अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से बिजली व्यवस्था सुचारु करने के आदेश दिए थे, परंतु उसके बावजूद भी गांव में बिजली व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हुआ। जिसके चलते ग्रामीणों ने दो दिनों का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि दो दिनों में बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो वह फिर से धरना प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।