कोरोना से लड़ाई: पूरा हरियाणा 31 मार्च तक लाक डाउन

0
Haryana-is-closed

कोरोना से लड़ाई में हरियाणा ने कसी कमर

(Haryana locked down)

  • केवल आपातकालीन सेवाएं रहेंगी जारी

  •  प्राइवेट दुकानें, कम्पनियां होंगी बंद

  •  मुख्यमंत्री ने बनाया कोरोना रिलीफ फंड, विधायकों, अधिकारियों एवं आम लोगों से की योगदान की अपील

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़/सच कहूँ)। हरियाणा में भी कोरोना वायरस पांव पसारता जा रहा है, जिसके चलते सोमवार को सरकार ने पूरे प्रदेश में लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपनी पहली डिजिटल कांफ्रेंस में इसकी घोषणा की और कहा कि मंगलवार से प्रदेश के सभी 22 जिलों में लॉकडाउन रहेगा। लोकल टेक्सी और आॅटो नहीं चलेंगे। आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी। सभी प्राइवेट कंपनियां और दुकानें बंद रहेंगी। वहीं मुख्यमंत्री ने कोरोना रिलीफ फंड बनाया जिसमें पाँच लाख रुपए का सहयोग दिया।

मुख्यमंत्री ने यह भी जानकारी दी कि अभी तक कोरोना वायरस से 14 लोग पीड़ित पाये गये हैं। जबकि जांच में 132 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है तथा 114 की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। नया मामला पलवल जिले में आया है। 65 वर्षीय व्यक्ति संक्रमित मिला है। उसे बुखार, खांसी, जुकाम और सांस लेने में दिक्कत थी।

  • 15 मार्च को दुबई से लौटा था।
  • 22 मार्च रात 10 बजे उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
  • उसे पलवल से नूंह के राजकीय मेडिकल कॉलेज नलहड़ में रेफर कर दिया गया है।
  • हरियाणा में सबसे ज्यादा मरीज गुरुग्राम में मिले हैं।
  • गुरुग्राम में 8 मरीज मिले हैं।
  • इसके बाद सोनीपत में 2 मरीज है।
  • पंचकूला में 1
  • पानीपत में 1
  • फरीदाबाद में 1
  • पलवल में 1 मरीज मिला है।

लाक डाउन में क्या होगा बंद और क्या रहेगा खुला?

उन्होंने कहा कि सभी इमरजेंसी सेवाएं रहेंगी चालू रहेंगी। करियाना की दुकान, सिलेंडर, दूध, फल, सब्जियां, दवाइयों की दुकानें खुली रहेंगी और डाक सेवाएं भी चालू रहेंगी। पानी, एटीएम, बैंक, पेट्रोल पंप सभी सुविधाएं चालू रहेगी। सभी प्राइवेट आॅफिस और दुकानें बंद रहेंगी। सभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी बंद रहेंगे। आदेश ना मानने पर आईपीसी की धारा 188 के तहत होगी कार्रवाई। बीपीएल परिवारों को अप्रैल महीने का राशन फ्री मिलेगा। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कोरोना रिलीफ फंड भी बनाने की घोषणा की, जिसमें सभी विधायक एक-एक महीने की सेलरी देंगे।

पानी व बिजली बिलों की अंतिम तिथि बढ़ा कर 15 अप्रैल हुई

मुख्यमंत्री ने खुद एक महीने की सेलरी के अलावा पांच लाख रुपया रिलीफ फंड में दिया है। उन्होंने बताया कि पानी बिजली व अन्य बिलों की अंतिम तिथि 15 अप्रैल कर दी गई। सरकारी अधिकारी 20 फीसदी तनख्वाह इस फंड में देंगे। लोगों के लिए एबीआई का अकॉउंट नम्बर 59234755902 जारी कर दिया गया है। हरियाणा इंटर स्टेट बॉर्डर सील किया गया है। रिक्शा चालकों को 1000 रुपये महीना दिया जाएगा। महामारी के बीच काम करने वालों की आॅन ड्यूटी जान जाने पर 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। योजना के बाहर जरूरतमंदों की मदद की जाएगी। धारा 144 जारी रहेगी, पांच से ज्यादा व्यक्ति एकत्रित नहीं हो सकेंगे।

दुष्यंत चौटाला ने एक महीने का वेतन कोरोना पीड़ितों के लिए सौंपा

कोरोना महामारी के पीड़ितों की मदद के लिए प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला आगे आए हैं। उन्होंने पहल करते हुए अपना एक महीने का वेतन कोरोना पीड़ितों के लिए सौंपा है। दुष्यंत चौटाला ने यह जानकारी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के माध्यम से दी है। उन्होंने ट्वीट कर अपील की है कि इस दिशा में अधिकारी व नेता भी बढ़-चढ़कर आगे आएं ताकि ज्यादा से ज्यादा कोरोना पीड़ितों की सहायता हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है। चाहे वायरस के प्रति लोगों को जागरूक करना हो या पीड़ितों की मदद के लिए आगे आना होना हो। हमें हर दिशा में कोरोना के खिलाफ लड़ना है और इसे देश से भगाना है।

इन दिशा निदेर्शों का सख्ती से पालन करना होगा

  •  आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले विभिन्न प्रतिष्ठान प्रतिबंध से बाहर रहेंगे
  • जिलों में विभिन्न प्रतिबंधों के अलावा, पूरे राज्य में सभी अंतरराज्यीय बस सेवाएं निलंबित रहेंगी।
  • सभी डीसी कोविड-19 प्रकोप के लिए अपने अपने जिले में नियंत्रण कक्ष स्थापित करेंगे।
  • यदि कोई संदेह है कि कोई सेवा आवश्यक है या नहीं, तो कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट निर्णय लेने के लिए सक्षम प्राधिकारी होंगे।
  • पुलिस कमिश्नर, कलेक्टर, डीएम, एडीएम, डीसीपी, एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, बीडीपीओ, नगर निगम आयुक्त , कार्यकारी अधिकारी, स्थानीय निकायों के सचिव, एसएचओ सभी आवश्यक कार्रवाई करने के लिए अधिकृत हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।