बेटियों व शिक्षा व कोरोना वॉरियर के नाम रहेगा आजादी का जश्न

0
Educated Daughter Hoist Flag

तैयारी। गाँव की पढ़ी-लिखी बेटी करेगी ध्वजारोहण, कोरोना वॉरियर्स होंगे सम्मानित

  • स्कूली कार्यक्रम में आयोजकों, आमंत्रितों सहित 50 से अधिक नहीं होंगे शामिल

सरसा(सच कहूँ/सुनील वर्मा)। स्वतंत्रता दिवस का पर्व इस बार राजकीय स्कूलों में ‘बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ’ तथा ‘स्कूल शिक्षा का सलाम, राष्टÑ और कोरोना वॉरियर के नाम’ थीम पर आधारित होगा। विशेषकर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान कोरोना वॉरियर्स को सम्मानित किया जाएगा। हालांकि कोरोना महामारी के चलते इस बार 15 अगस्त के स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाएगा तथा समारोह में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। कार्यक्रम में आयोजकों, आमंत्रितों, आगुंतकों सहित सभी को मिलाकर कुल संख्या 50 से अधिक नहीं होगी।

हर साल की तरह गांव की सबसे ज्यादा पढ़ी लिखी लड़की व महिला द्वारा स्कूलों में ध्वजारोहण किया जाएगा। स्कूली स्तर पर मनाए जाने वाले स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को लेकर हरियाणा विद्यालय शिक्षा निदेशालय की ओर से शुक्रवार को प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों,खंड शिक्षा अधिकारियों, खंड मौलिक शिक्षा अधिकारियों व स्कूल प्रिंसीपल तथा स्कूल प्रभारियों को स्वतंत्रता दिवस ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ तथा ‘स्कूल शिक्षा का सलाम, राष्टÑ और कोरोना वॉरियर के नाम’ से मनाने बारे उचित दिशा-निर्देश जारी किए गए। स्वतंत्रता कार्यक्रम के बाद विद्यालय की आम सभा की बैठक आयोजित होगी।

पढ़ी-लिखी बेटी करेगी ध्वजारोहण, टॉपर होंगे सम्मानित

स्कूल स्तर पर मनाए जा रहे स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को लेकर राजकीय विद्यालयों में 8 अगस्त से ही एसएमसी कमेटी की बैठक शुरु हो गई। जिसमें सोशल डिस्टेसिंग को मद्देनजर रखते हुए एक रजिस्ट्रर लगाकर उसमें बालिकाओं के नाम लिखे जाएंगे। 11 अगस्त को एसएमसी निर्णय करेंगी कौन सी बालिका व महिला ध्वजारोहण करेगी। 11 अगस्त को ही गांव में प्रथम आने वाली बालिकाओं को पुरस्कार वितरण के बारे में निर्णय लिया जाएगा।

वहीं गांव की उन बालिकाओं को सम्मानित किया जाएगा जो 2018-19 में कक्षा दसवीं, बारहवीं, स्नातक, स्नातकोत्तर व इसके अलावा गांव व वार्ड में एमफिल या पीएचडी में सबसे अधिक अंक प्राप्त किए है। इसके साथ किसी राज्य स्तरीय, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लिया या स्थान प्राप्त किया हो, उनको भी सम्मानित किया जाएगा। कोरोना महामारी के समय स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार विभिन्न कार्य किए गए थे। सभी तरह की लेटेस्ट विविध एवं शैक्षणिक खबरों के लिए हरियाणा एजुकेशनल अपडेट फेसबुक पेज ज्वाइन करें।

ये होंगे कोरोना वॉरियर्स के रूप में सम्मानित

मिडे-डे मील, पाठय पुस्तकों का आदान- प्रदान, नए शैक्षणिक सत्र की नई पाठ्यपुस्तकों का वितरण, आॅनलाइन दाखिले करवाना, अभिभावकों को वॉरियर को परामर्श, प्रवासी मजदूरों की स्कूलों में ठहरने की व्यवस्था, आॅनलाइन शिक्षा कार्य आदि। यदि कोई भी अध्यापक, स्कूल मुखिया, एसएमसी सदस्य, ग्राम पंचायत के सदस्य, सेल्फ हेल्प ग्रुप के सदस्य, मिडे-डे मील कर्मचारी, एनसीसी, एनएसएस, स्कॉउट, गाइड्स के वॉलंटियर्स जो कोरोना वॉरियर के रुप में उपरोक्त कार्यों को करने के लिए आगे आए है। उन्हें अंतर राष्ट्रीय आपदा के दौर में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा उनकी उत्कृष्ट सेवाओं के लिए स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जाएगा।

समारोह में यह भी होगा खास

स्कूलों में मनाए जाने वाले स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में इस बार देशभक्ति से संबंधित आॅनलाइन निबंध व कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन होगा। इसके अलावा डिजिटल व सोशल मीडिया के माध्यम से बच्चों द्वारा देशभक्ति से संबंधित गीत की प्रस्तुती दी जाएगी। वहीं पौधारोपण भी किया जाएगा और विद्यालय भवन को रोशनी से सुसज्जित किया जाएगा।

‘‘राजकीय विद्यालयों में स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए विभाग द्वारा गाइडलाइन जारी की गई है। जिसमें आयोजकों, आमंत्रितों, आगुंतकों सहित सभी को मिलाकर कुल संख्या 50 से अधिक नहीं होनी चाहिए। वहीं कार्यक्रम बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ तथा स्कूल शिक्षा का सलाम, राष्टÑ और कोरोना वॉरियर के नाम थीम पर होगा। कार्यक्रम के दौरान कोरोना वॉरियर्स को सम्मानित भी किया जाएगा।

                                                                                -संत कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी, सरसा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।