Coronavirus : चीन में मरने वालों का आकड़ा 636 पहुंचा

0
Coronavirus in India

चीनी राष्ट्रपति ने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ कोरोनावायरस को लेकर बातचीत की।

नई दिल्ली (एजेंसी)। चीन में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) से 73 और लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 636 पर पहुंच गई। साथ ही कोरोना वायरस से पुष्ट मामलों की संख्या करीब 31,000 हो गई। वहीं चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर बातचीत की। इस दौरान जिनपिंग ने इस बात पर जोर दिया कि चीन ने इस महामारी से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास किया है।

1,540 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। Coronavirus

संक्रमण से पीड़ित करीब 1,540 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। चीनी अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार तक देश में रह रहे 19 विदेशी नागरिकों के कोरोना वायरस की चपेट में आने की पुष्टि हुई। हालांकि उन्होंने उनकी नागरिकता के बारे में खुलासा नहीं किया। कोरोनावायरस को लेकर भारत ने सख्ती बरतते हुए दुनिया के किसी भी कोने से भारत आने वाले चीनी नागरिकों को पांच फरवरी से पहले जारी हुए वीजा के अमल पर रोक लगा दी है। इसमें नियमित (स्टीकर) और ई-वीजा शामिल है। हालांकि, हांगकांग, मकाऊ और ताइवान के चीनी पासपोर्ट धारकों को रियायत दी गई है।

ऑनलाइन न्यूज पोर्टल का दावा, 24 हजार से ज्यादा मरे

चीन में कोरोनावायरस से होने वाली मौतों को लेकर नई बहस शुरू हो गई है। कई देशों में काम करने वाली चीनी कंपनी टेनसेंट ने कुछ दिन पहले कथित तौर पर एक डाटा जारी किया जिसके अनुसार कोरोनावायरस के कारण चीन में 24,589 लोगों की मौत हो चुकी है। इस खबर के पूरी दुनिया में आग की तरह फैलने के बाद अचानक से कंपनी की साइट से यह डाटा भी लिया गया। लेकिन अंजाने में हुए इस कथित खुलासे से इस कयास को बल मिला है कि चीनी सरकार मरने वालों की संख्या को घटा कर पेश कर रही है।

कोडिंग की गड़बड़ी या फिर भंडाफोड़

सोशल मीडिया पर अटकलें तेज हैं कि कम्प्यूटर में कोडिंग की गड़बड़ी की वजह से टेनसेंट का यह असली डेटा ऑनलाइन लीक हो गया। कुछ अन्य लोगों का मानना है कि टेनसेंट में काम करने वाले किसी शख्स ने जानबूझकर असली डेटा लीक किया है ताकि दुनिया को वास्तविक हालात का पता चल सके।

अस्पताल के कॉरिडोर में लोगों के शव बिखरे पड़े

  • सोशल मीडिया में कुछ दिनों पहले एक वीडियो जारी हुआ था। 
  • जिसमें दावा किया गया कि वह वुहान के एक अस्पताल का है ।
  • और उसके कॉरिडोर में लोगों के शव बिखरे पड़े हुए हैं।
  • उन्हें कोई पूछने वाला नहीं है।
  • हालत यह है कि एक युवा डॉक्टर की हॉर्ट अटैक से मौत हो गई है।
  • चीन ने इस महामारी से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास किया है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।