भगता भाईका के डेरा श्रद्धालु मनोहर लाल इन्सां की हत्या का मामला:

0
16
The case of the murder of Manohar Lal Insan, a dera devotee of Bhagata Bhai Ka

सलाबतपुरा में तीसरे दिन भी जारी रहा साध-संगत का धरना (Murder Case)

  • पीड़ित परिवार को साध-संगत ने दिलाया भरोसा, कहा: न्याय मिलने तक डटे रहेंगे

  • हरियाणा व राजस्थान के जिम्मेवारों ने भी साध-संगत को किया संबोधित

सच कहूँ/सुरेन्द्रपाल भटिंडा/सलाबतपुरा। जिला भटिंडा के क्षेत्र भगता भाई में 20 नवंबर को डेरा श्रद्धालु मनोहर लाल इन्सां की (Murder Case) हत्या के मामले में पुलिस तीसरे दिन भी आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रही। हत्यारों को पकड़ने में हो रही देरी के कारण साध-संगत में रोष बढ़ता जा रहा है। हालांकि तीसरे दिन भी धरने में सलाबतपुरा के कई ब्लॉकों से साध-संगत पहुंची। धरने का नेतृत्व कर रहे जिम्मेवारों ने सोमवार को भी मुख्य मंच से फिर ऐलान किया कि जब तक घटना के दोषियों को पकड़ा नहीं जाता, तब तक वे सड़क पर ही बैठे रहेंगे। धरने के तीसरे दिन साध-संगत शांतिमय तरीके से बैठकर भजन-बंदगी करती रही, वहीं मनोहर लाल इन्सां के परिवार को हाथ खड़े कर भरोसा दिया कि समूह साध-संगत उनके साथ है। परिवार खुद को अकेला महसूस न करे, मनोहर लाल इन्सां को न्याय नहीं मिलने तक यहीं डटे रहेंगे।The case of the murder of Manohar Lal Insan, a dera devotee of Bhagata Bhai Ka

हरियाणा व राजस्थान दोनों के जिम्मेवार धरने में पहुंचे

राजस्थान से पहुंचे 45 मैंबर सेवक इन्सां ने साध-संगत को संबोधित करते हुए कहा कि भले ही पंजाब के जिम्मेवार सेवादारों द्वारा उन्हें यहां आने से रोका गया था, लेकिन राजस्थान की साध-संगत के कहने पर वे यहां धरने में पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो राजस्थान की साध-संगत भी यहां आकर धरने में शामिल होगी। इसी प्रकार हरियाणा के 45 मैंबर मीनू इन्सां ने संबोधित करते हुए कहा कि यह हत्या भगता भाई के एक व्यक्ति की नहीं हुई बल्कि इंसानियत के सच्चे सेवादार की हत्या हुई है, जिस कारण हरियाणा की साध-संगत भी यहां आने के लिए तैयार बैठी है।

हरियाणा व राजस्थान के दोनों जिम्मेवारों ने संबोधन के बाद धरने पर बैठी साध-संगत ने उनका यहां पहुंचने पर धन्यवाद किया, साथ ही कहा कि फिलहाल सलाबतपुरा के कुछ ब्लाकों की साध-संगत यहां डटकर धरना दे रही है। साध-संगत ने कहा कि यदि इंसाफ में देरी हुई तो पंजाब की समूह साध-संगत सहित राजस्थान व हरियाणा की साध-संगत भी धरने में शामिल होगी।The case of the murder of Manohar Lal Insan, a dera devotee of Bhagata Bhai Ka

साध-संगत में भारी रोष

इससे पूर्व साध-संगत राजनीतिक विंग के छिन्द्रपाल इन्सां के अलावा जिला समिति मैंबर गुरचरन इन्सां, नरिन्दर इन्सां, कुलदीप कौर इन्सां और गुरजीत कौर इन्सां ने संबोधित करते हुए साध-संगत के जज्बे को सलाम करते हुए कहा कि इतनी ठंड के बावजूद साध-संगत धरने पर दिन-रात डटी हुई है, जो साध-संगत में भारी रोष को ब्यान करता है। उन्होंने साध-संगत से अपील की कि इंसाफ मिलने तक इसी तरह ही अमन शान्ति से डटे रहना है, क्योंकि डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत तो समाज में अमन-शांति व मानवता भलाई के कार्यों के कारण जानी जाती है।

इस मौके डेरा सच्चा सौदा के सीनियर वाइस चेयरमैन जगजीत सिंह इन्सां, साध-संगत राजनीतिक विंग के मैंबर राम सिंह चेयरमैन, 45 मैंबर जतिन्द्र महाशा, बलराज इन्सां, शिन्द्रपाल इन्सां, रवि इन्सां, बलजिन्द्र इन्सां, जसवीर सिंह इन्सां, जगदीश चंद्र इन्सां, गुरसेवक इन्सां, सेवक सिंह गोनियाना, जगदीश इन्सां और टेक इन्सां उपस्थित थे।

पूरी साजिश बेनकाब हो: हरचरण इन्सां

45 मैंबर हरचरण इन्सां ने कहा कि साध-संगत के धरने को तीसरा दिन हो गया लेकिन अभी तक बात किसी नतीजे तक नहीं पहुंची। उन्होंने कहा कि साध-संगत की जायज मांग है कि जिन्होंने मनोहर लाल इन्सां की गोलियां से हत्या की है, उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाए और इस साजिश के पीछे जिनका हाथ है उनका भी पदार्फाश हो। उन्होंने कहा कि पता चला है कि आज डीजीपी पंजाब बठिंडा आए थे जिन्होंने पुलिस प्रशासन के साथ मीटिंग की थी लेकिन इस मामले पर हमारे साथ किसी ने कोई संपर्क नहीं किया।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने मामले की पूरी रिपोर्ट ली

मनोहर लाल इन्सां की हत्या मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पंजाब पुलिस एक्शन में आ गई है। जिसके चलते सोमवार को पंजाब के डी.जी.पी. दिनकर गुप्तार द्वारा बठिंडा गेस्ट हाउस में पहुंचकर जिले के आईजी जोन जसकरण सिंह व एसएसपी भूपिंदरजीत सिंह विर्क के साथ मीटिंग की। करीब दो घंटे तक बैठक में उन्होंने पूरे मामले में अब तक की कार्रवाई पर एसएसपी बठिंडा से रिपोर्ट ली। बैठक के बाद डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता बठिंडा से रवाना हो गए। इस दौरान दोनों अफसरों द्वारा मीडिया के साथ कोई बातचीत नहीं की गई।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।