गर्मी ने लोगों को किया बेहाल, बढ़ते तापमान के कारण सड़कों पर पसरा सन्नाटा

0
Temperature

बठिंडा/रामां मंडी(सतीश जैन)। ज्यैष्ठ महीने की भयंकर गर्मी का असर दिखाई देने लगा है। लॉकडाऊन-4 के बाद जहां सरकार ने लोगों को कुछ राहत दी है व बाजार सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक खुल रहे हैं वहीं गर्मी से लोगों को कोई राहत नहीं मिल रही है। सुबह सूरज चढ़ने के साथ ही तापमान में बढ़ोतरी होने लगती है। सुबह के समय से ही चलती तेज गर्म हवाओं ने लोगों को घरों में रहने के लिए मजबूर कर दिया है। लॉकडाऊन के बाद चाहे मार्केट खुल रही है लेकिन सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। जैस जैसे गर्मी बढ़ रही है मार्केट में कूलर पंखों की मांग भी बढ़ती जा रही है।

अधिकतम तापमान 42 डिग्री से लेकर 46 डिग्री तक | Temperature

कूलर, पंखा, एसी फ्रिज आदि इलैक्ट्रानिक सामान बेचने वाले मनोज कुमार ने कहा कि इस समय सबसे अधिक मांग कूलर की हो रही है व पांच से दस हजार रूपये तक के कूलर बाजार में उपलब्ध हैं। इसी तरह एसी 20 से 50 हजार के बीच में उपलब्ध हैं। मौसम विभाग के अनुसार दोपहर के समय शहर का अधिकतम तापमान 46 डिग्री व न्यूनतम तापमान 28 डिग्री रहा। पिछले एक सप्ताह से पारा लगातार बढ़ता ही जा रहा है व अधिकतम तापमान 42 डिग्री से लेकर 46 डिग्री तक चल रहा है।

रविवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री व न्यूनतम तापमान 27 डिग्री रहा। उसके बाद सोमवार व मंगलवार को सूरज की किरणें तेज हो गई। तापमान 46 डिग्र्री तक पहुंच गया व 16 किलोमीटर की रफ्तार के साथ चल रही गर्म हवाएं लोगों को झुलसा रही हैं। गर्मी के कारण आज जो लोग आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी करने के लिए बाजारों में पहुंचे तो वह छाया व ठंडे पानी को ढूंढते नजर आए। मंडी वासियों ने कहा कि जिला प्रशासन को दुकानें खोलने का समय बदलना चाहिए व सुबह 7 बजे से 11 बजे तक का समय निर्धारित करना चाहिए व शाम 5 बजे से 8 बजे तक इससे लोगों को गर्मी से काफी हद तक राहत मिल सकेगी।

लोग बहुत जरूरी काम होने पर घरों से बाहर निकलें : एसएमओ

सिविल अस्पताल रामां के एसएमओ डॉ. दर्शन कौर ने कहा कि बढ़ रही गर्मी के मद्देनजर लोग घरों से केवल जरूरी कार्यों के लिए ही निकलें व अधिक से अधिक पानी का इस्तेमाल करें। उन्होंने ेकहा कि इस भयानक गर्मी में छोेटे बच्चों का भी खास ख्याल रखा जाए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।