स्वाइन फ्लू: सात दिन में 6 की मौत, होली तक सावधान रहने की जरूरत

0
Swine Flu

भोपाल (sach kahoon) राजधानी में स्वाइन फ्लू का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को इस बीमारी से दो और मरीजों की मौत हो गई। सात दिन के भीतर 6 मरीजों की मौत स्वाइन फ्लू के कारण हुई है। सीजन में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 14 हो गई है। जबकि पॉजिटिव मरीजों की संख्या 85 हो गई है। जानकारों का कहना है कि अभी तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव हो रहा है। ऐसे में होली तक स्वाइन फ्लू का संक्रमण फैलने के आसार बने रहेंगे।

प्रदेश में जो शहर रेलवे ट्रैक से जुड़े, वहां स्वाइन फ्लू का प्रकोप

सीएमएचओ एनयू खान ने बताया कि शुक्रवार को 24 संदिग्ध मरीजों के सुआब के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें भोपाल के 6 मरीजों में स्वाइन फ्लू पाॅजिटिव आया है। जबकि, एक-एक पॉजिटिव मरीज सागर और विदिशा का मिला है। अभी 26 सैंपल की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। खान बताया कि स्वाइन फ्लू का वायरस एक बार एक्टिव होता है तो खत्म होने में एक सप्ताह से ज्यादा का समय लगता है।

एमडी मेडिसिन डॉ. आदर्श बाजपेयी ने बताया कि तापमान में अचानक होने वाले उतार-चढ़ाव के कारण लोगों को सर्दी-खांसी जैसी दिक्कतें ज्यादा हो रही है। इस मौसम में स्वाइन फ्लू का वायरस तेजी से फैलता है। यही नहीं, तापमान तेजी से बदलता है तो मनुष्य की रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। यदि किसी मरीज को स्वाइन फ्लू हुआ और उसे घर पर आइसोलेट कर दिया जाए तो बीमारी आगे नहीं बढ़ेगी। लेकिन, अधिकतर लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती और वे स्कूल, ऑफिस और बाजार जाते हैं और खुद स्वाइन फ्लू फैलाने का काम करते हैं।

सर्दी-जुकाम होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं

मौसम में होने वाले बदलाव से लोगों को सर्दी खांसी हो रही है। यदि किसी व्यक्ति को सर्दी-जुकाम हुआ है तो उसे डॉक्टर को तुरंत दिखाएं। जरा सी लापरवाही से लोगों को खतरा हो सकता है। डॉ. लोकेंद्र दवे, एचओडी, श्वांस रोग विभाग, हमीदिया

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।