सूरजकुंड मेला: कैशलेस खरीददारी कर सकेंगे पर्यटक

0
  • मेले में पहली बार शामिल होंगे इथोपिया, मंगोलिया व स्लोवीनिया देश
  • 10 लाख से ज़्यादा लोगों के आने की संभावना

ChandiGarh, Anil Kakkar: प्रदेश में लाखों सैलानियों के लिए फरीदाबाद का सूरज कुंड मेला हर बार विशेष आकर्षण का केंद्र बनता है। इस बार भी 31वां अंतरराष्ट्रीय सूरजकुण्ड क्राफ्ट मेला-2017 भारतीय एवं विदेशी संस्कृति के सुमेल की अनोखी आभा बिखेरने को तैयार है। इस दफे मेले का पार्टनर कंट्री इजिप्ट होगा और झारखंड थीम स्टेट होगा। वहीं
मेले को कैशलेस बनाने के लिए सरकार ने कमर कस ली है। हरियाणा पर्यटन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वी.एस.कुण्डू तथा हरियाणा पर्यटन विभाग के प्रबन्ध निदेशक समीर पाल सरो ने फरीदाबाद में पर्यटन निगम के अधिकारियों की बैठक में बताया कि सूरजकुंड मेले में इथोपिया, मंगोलिया व स्लोवीनिया देश पहली बार शामिल होंगे। बता दें कि सभी देशों विशेषकर पड़ोसी देशों को भी प्रचलन के अनुसार मेले में आने के लिए आमंत्रित किया जाता है। बैठक में बताया गया कि कैशलेस सिस्टम तथा ई-बैंकिंग प्रणाली शुरू करने के लिए विभिन्न एजेन्सियों से बातचीत चल रही है ताकि लोगों को व मेले के प्रतिभागी हस्तशिल्पी स्टालधारकों को कोई परेशानी न हो। इस मेले में 10 लाख से भी अधिक संख्या में विस्टर आने की संभावना है। बैठक में निगम के महाप्रबंधक दिलावर सिंह, स्थानीय मंडल प्रबंधक राजेश जून, यू.एस.भारद्वाज व राजपाल सहित अन्य सभी संबंधित पर्यटन केंद्रों के डीडियोएज मंडल प्रबंधक एव अधिकारी उपस्थित थे।

30 सालों से ख्याति अर्जित कर रहा मेला
बैठक में अधिकारियों को मेला ग्राउंड की तैयारी, स्टॉल हट्स, पेयजलापूर्ति, सेनिटेशन, सफाई, बिजली व्यवस्था, फायरबिग्रेड, पार्किंग, अपना घर, चौपाल, मीडया सेंटर, टिकट बूथ, मेला परिसर, विभिन्न प्रकार के ठहराव स्थल, खान-पान व्यवस्था, वॉकी-टॉकी व्यवस्था व मेला सुरक्षा प्रबन्धों के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। यह मेला अंतरराष्टÑीय स्तर पर गत 30 वर्षों से ख्याति अर्जित कर रहा है और इस बार भी अधिक विशेष अंदाज व छटा के साथ यह मेला आयोजित किया जाएगा। इस बार हरियाणा का स्वर्ण जयंती उत्सव वर्ष भी चल रहा है।