विद्यार्थियों को घर बैठे ही मिलेगा एडमिशन लेने का अवसर : विज

0
Students will get an opportunity to take admission right from home Vij

 इंजीनियरिंग की हजारों सीटों पर होंगे दाखिले

चंडीगढ़ (सच कहूँ/अनिल कक्कड़ )। हरियाणा के तकनीकी शिक्षा मंत्री अनिल विज ने शनिवार को विभाग द्वारा वर्ष 2020-21 हेतु इंजीनियरिंग डिग्री एवम् डिप्लोमा कोर्स हेतु आरंभ की गई ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया का उद्घाटन किया गया। इससे विद्यार्थियों को घर बैठे ही इन विषयों में अपना दाखिल करवाने का अवसर मिलेगा। विज ने कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के चलते जहां फिलहाल छात्र-छात्राओं को विभिन्न संस्थानों में जाकर दाखिला प्रक्रिया को पूर्ण करना कठिन है, वहीं बिना मूल प्रमाण पत्रों के उनके प्रमाणपत्र सत्यापन भी संभव नहीं है। इस स्थिति को सरल बनाने हेतु राज्य तकनीकी शिक्षा विभाग ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र हरियाणा की मदद से एक विशेष सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जिसका प्रयोग इस बार दाखिले प्रक्रिया हेतु किया जाएगा। यह सॉफ्टवेयर न सिर्फ ऑनलाइन प्रार्थनापत्र स्वीकार करेगा अपितु डिजिलॉकर की मदद से उनके प्रमाणपत्रों का सत्यापन भी करेगा। इससे विद्यार्थियों को भौतिक रूप से उपस्थिति ना होने पर भी उनके लिए दाखिले करवाना संभव होगा।

इन सीटों पर होंगे दाखिले

तकनीकी शिक्षा मंत्री ने बताया कि हरियाणा में वर्तमान में 37 राजकीय बहुतकनीकी संस्थान हैं तथा 4 सहायता प्राप्त संस्थान है, जिनमें 36 विभिन्न ट्रेडों में डिप्लोमा पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं। इन संस्थानों में इंजीनियरिंग डिप्लोमा की 13131 सीटें तथा वोकेशनल डिप्लोमा कोर्स की 810 सीटों पर दाखिले होने हैं। इसके अतिरिक्त 151 स्व वित्तपोषित संस्थान भी है, जहां इंजीनियरिंग डिप्लोमा की लगभग 26000 सीटें हैं।

यहां उपलब्ध होंगे अवसर

विभाग के डायरेक्टर के.के. कटारिया ने बताया कि इन बहुतकनीकी संस्थानों से निकलने वाले विद्यार्थियों को भारतीय रेलवे, गेल, मारुति, पावरग्रिड, एन टी पी सी सहित अनेकों कंपनियों में रोजगार के अच्छे अवसर प्राप्त होते है। इसके साथ ही हरियाणा के बहुतकनीकी संस्थानों में बाजार की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस स्थापित किए गए हैं जोकि उद्योगों की आवश्यक्तानुसार बेहतर डिप्लोमा इंजिनियर उत्पन्न करते हैं। इस अवसर पर ज्वाइंट डायरेक्टर श्रीमती पूनम प्रतिभा, डॉ. राजीव सपरा, श्रीमती विंदू आनंद सहित विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।