हरियाणा

मांगों को मानने में ढील तो सख्त कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे : अध्यक्ष मलिक

Strict Action, Government, Demands, Reservation Case, Haryana

जाट नेता यशपाल मलिक ने सरकार को चेताया

  • सभी जिलों में केन्द्र के नाम सौंपेंगे ज्ञापन

उचाना(सच कहूँ न्यूज)। अखिल भारतीय जाट संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि छह मांगों पर सरकार काम कर रही है। इनमें से अधिकतर मांगे पूरी हो चुकी हैं। सरकार ने इन मांगों को पूरा करने में कहीं ढिलाई दिखाई तो जाट समुदाय फिर से सख्त कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा। वे कपास मंडी में आयोजित समिति की हल्का स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे।

प्रदेश भर में होंगी हल्का स्तरीय 75 बैठकें

उन्होंने कहा कि कुछ लोग जाटों को बहकाने का काम कर रहे हैं लेकिन हमारी एकता से ही हर कार्य संभव है। 24 जुलाई से 6 सितंबर तक सभी जिलों में केन्द्र सरकार के नाम ज्ञापन देना शुरू किया जाएगा। लोगों की उमड़ी भीड़ से हलका स्तरीय मीटिंग रैली में तबदील हो गई। महिलाओं की भागीदारी भी अच्छी-खासी थी। वक्ताओं ने सरकार के सामने रखी गई मांगों में से कितनी मांगे पूरी हो चुकी है, कितनी पर कहां तक काम चल रहा है को लेकर विस्तार से जानकारी दी।

मलिक ने कहा कि आरक्षण को लेकर दिए गए धरनों के दौरान दिल्ली में केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह की अगुवाई में सीएम मनोहर लाल सहित अन्य के साथ हुई बैठक में छह मुद्दों पर सहमति बनी थी। इसमें हरियाणा का आरक्षण, केन्द्र का आरक्षण, आरक्षण के दौरान शहीद हुए युवाओं के परिवारों के नौकरी, आरक्षण के दौरान घायलों को मुआवजा, जेल में बंद लोगों की रिहाई। इनमें से अधिकतर बातें पूरी हो चुकी हैं, जो भी बाकी हैं उन पर सरकार तेजी से कार्य कर रही है।

आरक्षण मामला

हरियाणा में आरक्षण का जो मामला था, उसमें सरकार ने जब तक कोर्ट का फैसला नहीं आता है, तब तक इकनोमिक सेल के सर्टिफिकेट बनाने के आदेश कर दिए है, केन्द्र में जो आरक्षण की मांग थी, उसमें पहले के आयोग को भंग करके नए आयोग का गठन किया गया है, जो जल्द ही राज्य सभा में पास हो जाएगा। आरक्षण में शहीद हुए युवाओं के परिवारों सरकारी नौकरी दी जा चुकी है। जो मुआवजा की मांग थी, वो पूरी हो चुकी है। जेल में 320 लोग बंद थे, जिनमें से ज्यादातर रिहा हो चुके हैं लेकिन अभी 25 बंद है। इनमें से 20 अकेले रोहतक में कैप्टन अभिमन्यु की कोठी के केस में, और जो चार-पांच युवा है वो हिसार के हैं, उन पर पहले भी मामले चल रहे थे। जेल में बंद लोगों की जल्द ही हाईकोर्ट से जमानत दिलवाएंगे।

चंदे का पैसा हरियाणा जाट सेवा संघ के खाते में जमा

चंदे को लेकर लगाए जाने वाले आरोपों पर उन्होंने कहा कि हरियाणा का पैसा हरियाणा के जाट सेवा संघ के खातों में ही जमा है। मैंने आज तक चंदे के पैसे से न तो अपनी गाड़ी में तेल डलवाया है और न ही अपने किसी निजी काम के लिए पैसों का इस्तेमाल किया है। जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वो पूरी तरह से झूठे हैं। ये पहले से ही तैयार किया षड़यंत्र था, यह षड़यत्र भाजपा के ही एक मंत्री के आदेश पर ही शुरू किया गया था, ताकि जान-माल की हानि हो और वो प्रदेश का सीएम बन सकें। ऐसे लोगों का उद्देश्य पहला संगठन में शामिल होना था, संगठन में शामिल होकर संगठन को तोड़ने की साजिश थी।

इस मौके पर अशोक बलहारा, सूबे सिंह ढाका, रामभगत, महेंद्र पूनिया, रणबीर श्योकंद, कृष्ण सुदकैन, मांगेराम पालवां, सतबीर पहलवान, रामपाल, सतपाल श्योकंद, काला श्योकंद, सुरेंद्र उचाना खुर्द, अमित घसो, बलराज श्योकंद, रमेश खटकड़, धर्मबीर श्योकंद, लीलू बडनपुर, दिलबाग काकड़ोद, रमेश मखंड मौजूद रहे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top