पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आइडी स्वामी के निधन पर हरियाणा में आज का राजकीय शोक

0
Minister of State for Home ID Swamy

उनके निधन से पूरे शहर में शोक की लहर है (Minister of State for Home ID Swamy)

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। राजनीति के दिग्गज और पूर्व केंद्रीय (Minister of State for Home ID Swamy) राज्यमंत्री आइडी (ईश्वर दयाल) स्वामी के निधन पर हरियाणा सरकार ने आज सोमवार को एक दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सोमवार को सरकार के विभिन्न भवनों पर लगे राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुका दिया गया है। वहीं आज सरकार के कार्यकलाप में किसी भी तरह का मनोरंजन का कोई कार्यक्रम नहीं होगा। जबकि प्रशासकीय कार्य जारी रहेंगे। गौरतलब हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजन लाल की राजनीतिक पीएचडी को तोड़ने वाले पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आईडी स्वामी (90) का रविवार को हृदय गति रुकने से निधन हो गया था।

  • उनका अंतिम संस्कार सोमवार सुबह 11 बजे अर्जुन गेट स्थित शिवपुरी, फरीदाबाद में किया गया।
  •  गत 9 दिसंबर को उनकी धर्मपत्नी पद्यमा स्वामी का भी लंबी बीमारी के उपरांत निधन हो गया था।
  • आई डी स्वामी जी के जाने से एक ही सप्ताह में परिवार के लिए यह दूसरी बड़ी क्षति है।
  • रविवार प्रात: उनकी तबीयत खराब हो जाने के कारण उपचार के लिए फरीदाबाद के मैट्रो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।
  • उनके निधन से पूरे शहर में शोक की लहर है

-सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ-साथ सामाजिक और धार्मिक संगठनों के सदस्यों ने भी उनके निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। आईडी स्वामी और उनकी धर्मपत्नी पद्यमा स्वामी अपने पीछे पुत्र राजेंद्र स्वामी, तीन बेटियां सागिरा स्वामी, शगुफ्ता शर्मा और सोफिया शारदा सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं।

जीवन पर एक नजर: विलक्षण प्रतिभा के धनी थे आईडी स्वामी

विलक्षण प्रतिभा के धनी आईडी स्वामी का जन्म 10 अगस्त 1929 को अम्बाला जिला के गांव मोहड़ा में हुआ था। उन्होंने गांव के स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा ली और फि र कॉलेज की शिक्षा अम्बाला कैं ट में ली। पंजाब यूनिवसिटी से एमए, एलएलबी की। इसके बाद पंजाब सिविल सविस में सैलेक्ट हुए और सिटी मैजिस्ट्रेट तथा एसडीएम जैसे पदों पर रहे।

  • पदोन्नति पाकर आईएएस बने और सरसा व हिसार में उपायुक्त के पद पर काम किया।
  • सविस से रिटायर होने के बाद वष 1990 में भाजपा ज्वाईन की
  • और फिर 1996 में अपने प्रथम चुनाव में करनाल क्षेत्र से जीत कर सांसद बने
  • उन्होंने चुनाव में कांग्रेस के चिरंजी लाल शमा को पराजित किया।
  •  वष 1996 में पूव मुख्यमंत्री भजन लाल से हार गए।
  •   1999 में चुनाव मे भजन लाल को रिकॉड मतों से हरा कर विजयी रहे
  •  उन्हें केन्द्र में गृह राज्य मंत्री का पद मिला।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।