समझदार बंदर

0
बच्चों बहुत पुरानी बात है। मोहक वन नमक एक जंगल में एक नदी थी। वहीं किनारे एक जामुन के पेड़ पर एक बन्दर रहता था। जामुन के उस पेड़ पर बहुत ही मीठे जामुन लगते थे। नदी में एक मगरमच्छ भी रहता था। एक दिन मगरमच्छ खाना तलाशते हुए पेड़ के पास आया। उसे देख बन्दर ने आने का कारण पूछा तो मगरमच्छ अपने आने की वजह बताई। बन्दर बोला कि यहां बहुत ही मीठे जामुन लगते हैं और उसने कुछ जामुन मगरमछ को दिए।
इसी कारण उसकी मित्रता मगरमच्छ के साथ हो गई। अब तो रोज वह बन्दर उस मगरमच्छ को खाने के लिए मीठे जामुन देता रहता था।
मगरमच्छ ने एक दिन कुछ जामुन अपनी पत्नी को भी दिए।
जामुन खाकर वह बोली, ‘‘रोज इतने मीठे फल खाने वाले का दिल भी खूब मीठा होगा।’’
यह कह कर उसने अपने पति से कहा, ‘‘मुझे उस बन्दर का दिल चाहिए।’’
और वो इसी जिद पर अड़ गई।
मगरमच्छ उस बन्दर को अपना दोस्त मानता था और उसने ऐसा करने से मना कर दिया।
नाराज पत्नी नहीं मानी और उसने बीमारी का बहाना किया और कहा, ‘‘जब तक बन्दर का कलेजा उसे नहीं मिलेगा वो ठीक नहीं हो पायेगी।’’
अब मगरमच्छ ने पत्नी की जिद से मजबूर होकर एक चाल चली।
उसने बन्दर से कहा कि तुम्हारी प्यारी सी भाभी (मगरमच्छ की पत्नी ) बन्दर से मिलना चाहती है। बन्दर आश्चर्यचकित होकर कहने लगा, ‘‘भला नदी में कैसे जायेगा?’’
चालाक मगरमच्छ ने कहा, ‘‘वह उसकी पीठ पर बैठ जाये, और उसे सुरक्षित घर ले जाएगा।
बेचारा बन्दर अपने मित्र की बात मान गया और भरोसा कर पेड़ से नदी में कूद गया और मगरमच्छ की पीठ पर सवार हो गया।
जब वे नदी के बीच पहुंचे तो मगरमच्छ ने सोचा कि अब बन्दर को सही बात बताने में कोई नुक्सान नहीं। उसने बन्दर से कहा, ‘‘उसकी पत्नी बन्दर का मीठा दिल खाना चाहती है।’’
यह सुन बन्दर को बहुत धक्का लगा और मानो उसका दिल टूट गया।
समझदार बन्दर ने अपना धैर्य नहीं खोया और तपाक से बोला, ‘‘अरे मेरे प्यारे दोस्त, तुमने, तुमने मुझे यह पहले क्यों नहीं बताया? मैंने तो अपना दिल जामुन के पेड़ में लटका रखा है। चलो मुझे वापस नदी के किनारे ले चलो, ताकि मैं अपना दिल लाकर अपनी भाभी को खिला सकूँ और उनकी इच्छा पूरी कर सकूं।’’
बेवकूफ मगरमच्छ बन्दर की बात मान गया और पेड़ की और चल पड़ा।
जैसे ही वह नदी-किनारे आया तो बन्दर ने तेजी से जामुन के पेड़ पर छलांग लगा दी।
क्रोध में बंदर बोला, ‘‘तू मगरमच्छ नहीं गधा है, बेवकूफ दिल के बिना भी क्या कोई जिन्दा रह सकता है? चल भाग यहां से तेरी-मेरी दोस्ती खत्म, अब तुझे जामुन भी नहीं मिलेंगे खाने को।’’

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।