Breaking News

SLvIND: शिखर दोहरे से चूके, पुजारा का नाबाद शतक

SLvIND, Wicket, Cricket, Sports, Matct, India, Sri Lanka Galle

टेस्ट शृंखला: पहला टेस्ट के पहले दिन टीम इंडिया ने बनाए 3 विकेट खोकर 399 रन

गाले (श्रीलंका)। टीम में वापसी करने वाले ओपनर शिखर धवन (190) ने अपने पसंदीदा गाले मैदान में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बना लिया लेकिन वह दोहरे शतक से चूक गए। शिखर की इस लाजवाब पारी और चेतेश्वर पुजारा के नाबाद 144 रन से भारत के श्रीलंका के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन बुधवार को तीन विकेट पर 399 रन का मजबूत स्कोर बना लिया। शिखर का दुर्भाग्य रहा कि वह अपने पहले दोहरे शतक से 10 रन दूर रह गए। दिल्ली के शिखर ने पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 253 रन की जबरदस्त साझेदारी की।

 पुजारा ने करियर का 12वां और शिखर ने लगाया पांचवां शतक

पुजारा ने अपने करियर का 12वां शतक बनाया जबकि शिखर का ओवरआॅल यह पांचवां शतक था। दोनों के बीच जबरदस्त साझेदारी ने भारत को दिन की समाप्ति तक बेहद मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। पुजारा के साथ दिन के खेल की समाप्ति तक अजिंक्या रहाणे 39 रन बनाकर क्रीज पर थे। ओपनर अभिनव मुकुंद 12 और कप्तान विराट कोहली तीन रन बनाकर आउट हुए। भारत की पारी के तीनों विकेट नुवान प्रदीप ने 18 ओवर में 64 रन देकर लिए। सलामी बल्लेबाज शिखर ने अपनी सार्थकता और चयन दोनों साबित करते हुए 190 रन की अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी खेल डाली।

 पहले दोहरे शतक से 10 रन दूर रह गए शिखर

तीन टेस्टों की सीरीज के लिए पहले टीम में शामिल नहीं किए गए धवन को मुरली विजय की जगह टीम के साथ श्रीलंका आने का मौका मिला और उन्होंने इसे हाथ से जाने नहीं दिया। हालांकि वह अपने पहले दोहरे टेस्ट शतक से केवल 10 रन दूर रह गए और नुवान प्रदीप ने उन्हें एंजेलो मैथ्यूज के हाथों कैच कराकर उन्हें इस उपलब्धि से वंचित कर दिया। धवन ने इसी मैदान पर अपना आखिरी टेस्ट शतक बनाया था। उन्होंने भारत के आखिरी श्रीलंका दौरे में वर्ष 2015 में 12 अगस्त को मैच में 134 रनों की पारी खेली थी। शिखर ने 2015 के उस टेस्ट के दो साल बाद जाकर अपना पांचवां शतक बनाया है। इन दो वर्षाें के बीच उन्होंने सिर्फ एक अर्धशतक बनाया था जो जुलाई 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ नॉर्थ साउंड में 84 रन के रुप में था।

टेस्ट करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी

31 वर्षीय बल्लेबाज ने 2013 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली टेस्ट में 187 रन की पारी खेली थी जो उनके टेस्ट करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी थी। यह उनका पांचवां टेस्ट शतक है। लेकिन अब उन्होंने गाले में अपने 190 रन के स्कोर से इसे पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने दूसरे छोर पर टिके हुए चेतेश्वर पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 253 रन की बड़ी साझेदारी भी की। दोनों ने भारतीय टीम को शुरुआती झटके से उबारा। कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया। हालांकि उसे ओपनिंग क्रम के बल्लेबाज अभिनव मुकुंद का विकेट मात्र 27 के स्कोर पर सस्ते में गंवाना पड़ गया जो 12 रन बनाकर नुवान प्रदीप की गेंद पर विकेटकीपर निरोशन डिकवेला को कैच दे बैठे।

लेकिन इसके बाद धवन और दूसरे छोर पर टेस्ट विशेषज्ञ बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने लंच तक टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया। लंच तक भारत का स्कोर 115 पहुंच गया। गाले इंटरनेशनल स्टेडियम में चल रहे मैच में शिखर ने लंच तक आठ चौके लगाकर नाबाद 64 और पुजारा ने 37 रन बना लिए थे। शिखर ने लंच के बाद अपनी रन गति तेज की और 110 गेंदों में 100 रन तक पहुंच गए। उन्होंने 150 रन का आंकड़ा 147 गेंदों में पूरा कर लिया जिसमें उन्होंने 24 चौके लगाए। भारत के 250 रन 49.5 ओवर में पूरे हो गए। चायकाल तक भारत का स्कोर दो विकेट पर 282 रन था। कप्तान विराट चायकाल के तुरंत बाद प्रदीप की गेंद पर डिकवेला को कैच थमा बैठे।

 हार्दिक पांड्या को मिला पदार्पण का मौका

भारत का तीसरा विकेट 286 के स्कोर पर गिरा। श्रीमान भरोसेमंद के नाम से मशहूर पुजारा ने अपनी ख्याति के अनुरुप खेलते हुए दिन की समाप्ति तक भारत को कोई और नुकसान नहीं होने दिया। उन्होंने रहाणे के साथ चौथे विकेट की अविजित साझेदारी में 113 रन जोड़ डाले। भारत ने इस मैच में आॅलराउंडर हार्दिक पांड्या को तथा श्रीलंका ने दानुष्का गुणातिल्का को टेस्ट पदार्पण का मौका दिया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019