प्रदेश में कांग्रेस का ‘मौन सत्याग्रह’

0
Hathras Case

कांग्रेस ने दो घंटे ‘मौन सत्याग्रह’ कर हाथरस मामले में पीड़िता को न्याय दिलाने की रखी मांग

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। केन्द्र की भाजपा सरकार के खिलाफ कांग्रेस से जुड़े लोग तो राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ता सोमवार को सड़कों पर उतर एक-दूसरे पर आरोप लगाते नजर आए। सड़क पर उतरने का कारण भी मिलता-जुलता था। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जहां दो घंटे ‘मौन सत्याग्रह’ कर उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड में पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग की तो दूसरी तरफ भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में महिलाओं व बच्चियों पर बढ़ते अपराध व बदहाल कानून व्यवस्था के खिलाफ हल्ला बोल प्रदर्शन किया।

जिला मुख्यालय पर दो घंटे का मौन सत्याग्रह किया

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने टाउन में राजकीय जिला अस्पताल में स्थापित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष मौन सत्याग्रह किया, वहीं भाजपा ने जिला कलक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में अनुसूचित जाति की 19 वर्षीय युवती से कथित तौर सामूहिक दुराचार और फिर बाद में हुई मौत के विरोध में राजस्थान कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय पर सोमवार को दो घंटे का मौन सत्याग्रह किया।हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर यह सत्याग्रह टाउन में महात्मा गांधी स्मृति राजकीय जिला चिकित्सालय में स्थापित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने सुबह 10 से दोपहर 12 बजे किया गया।  कार्यकतार्ओं ने मौन सत्याग्रह कर पीड़िता के लिए न्याय की मांग की।

मौन व्रत पर बैठने से पहले मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए नोहर विधायक अमित चाचाण ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में अत्याचार का शिकार हुई दलित समाज की युवती को न्याय दिलाने के लिए आज पूरे राजस्थान में जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस कार्यकर्ता दो घंटे मौन व्रत रखकर सत्याग्रह कर रहे हैं। पिछले दिनों खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कह चुके हैं कि अगर भाजपा नेताओं को कोई भय है तो वे खुद कांग्रेस पार्टी में आ सकते हैं, उन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा।

लेकिन दूसरी तरफ जब कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता यूपी जाते हैं तो उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया जाता है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया जाता है। यह सिर्फ और सिर्फ भाजपा का तानाशाही रवैया है जो निंदनीय है। कांग्रेस नेता सौरभ राठौड़, गुरमीत सिंह चन्दड़ा, सुरेन्द्र गोंद, पार्षद मनोज सैनी, सुमित रणवां, गुरदीप सिंह चहल सहित कई अन्य पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने मौन सत्याग्रह किया।

हाथरस की बेटी को इंसाफ की मांग को लेकर निकाला रोष मार्च

टिब्बी। कस्बे में भीम आर्मी एकता मिशन की ओर सोमवार को हाथरस केस में पीड़िता के परिवार को इंसाफ की मांग को लेकर यहां के डॉ. अंबेडकर चौक से लेकर एसडीएम कार्यालय तक रोष मार्च निकाला गया। भीम आर्मी के तहसील अध्यक्ष राजाराम भारतीय और तहसील प्रभारी कृपाल सिंह के नेतृत्व में निकाले गए रोष मार्च में हाथरस केस की गैंग रेप पीड़िता के परिवार को इंसाफ की मांग लेकर नारेबाजी और यूपी के सीएम और देश के पीएम के खिलाफ भी नारेबाजी की गई।

एसडीएम दफ्तर में एसडीएम मांगीलाल सुथार को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर हाथरस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने, दोषी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कानूनी कार्रवाई कर तत्काल निलंबित करने, पीड़ित परिवार को अधिक से अधिक आर्थिक सहायता देकर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने, पीड़ित परिवार के पुनर्वास की मांग की। इस अवसर पर पन्नीवाली सोनू चौपड़ा,जैन कुमार, महेश, डीवाईएफआई के कुलदीप शास्त्री व माकपा सचिव सुरेंद्र सोनी आदि मौजूद रहें।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।