राजस्थान

दुकानों के समक्ष रेहडियां-टेंपो लगने से दुकानदार परेशान

Shopkeepers Get Disturbed The Tempo Before Shops

जगह निर्धारित करने की मांग को लेकर कलक्टर के पास पहुंचे दुकानदार

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। जंक्शन में भगतसिंह चौक से बस स्टैंड रोड तक दुकानों के आगे खड़े रहने वाले टेंपो व रेहडिय़ों (Shopkeepers Get Disturbed The Tempo Before Shops) के लिए अन्यत्र जगह निर्धारित करने की मांग को लेकर दुकानदारों के संगठन भोले बाबा युवा मित्र मंडल ने बुधवार को जिला कलक्टर जाकिर हुसैन को ज्ञापन सौंपा। दुकानदारों के अनुसार जंक्शन के ह्रदयस्थल भगतसिंह चौक से बस स्टैंड तक सड़क पर रेहडिय़ां लगाने एवं टेंपो खड़े रहने से पूरा दिन जाम की स्थिति तो पैदा होती ही है, दुकानदारों की ग्राहकी भी प्रभावित हो रही है। इस कारण आए दिन लड़ाई-झगड़े के हालात पैदा हो जाते हैं। यही नहीं रेहड़ी लगाने वाले सड़क पर कचरा फेंक देते हैं।

संकरी सड़क होने के कारण रेहडिय़ां एवं टेंपो खड़े रहने से आवागमन होता है बाधित

इस वजह से इस मार्ग पर निराश्रित पशुओं का भी जमावड़ा रहता है। कई बार पशुओं में जोर-आजमाइश भी शुरू हो जाती है। लड़ाई करते हुए यह पशु दुकानों में घुस जाते हैं। इनकी जोर-आजमाइश में दुकानों के बाहर खड़े वाहन क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। दुकानों के (Shopkeepers Get Disturbed The Tempo Before Shops) बाहर सामान को भी नुकसान पहुंचता है। दुकानदारों के अनुसार संकरी सड़क होने के कारण रेहडिय़ां एवं टेंपो खड़े रहने से आवागमन बाधित होता है।

कई बार तो पैदल चलना भी कठिन हो जाता है। दुकानदारों के अनुसार उन्होंने इससे पूर्व भी प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना देकर समस्या से अवगत करवाया था। इसके बाद कुछ समय तक तो टेंपो एवं रेहडिय़ां हटा दी गई परंतु अब फिर वही हालात पैदा हो गए हैं। दुकानदारों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंप तुरंत प्रभाव से भगतसिंह चौक से बस स्टैंड तक लगी रेहडिय़ों एवं टेंपो को यहां से हटवा अन्यत्र जगह खड़े करने के लिए स्थान उपलब्ध करवाने की मांग की। साथ ही समस्या का समाधान न होने पर धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी। इस मौके पर पुरुषोत्तम दास सिंगला, जीत धींगड़ा, रवि कुमार, राकेश कुमार, राजेंद्र कुमार, विजय कुमार, रमेश नारंग, चिमनलाल आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top