शूटिंग वर्ल्ड कप: 16 साल के दिव्यांश ने 10 मी. एयर राइफल में रजत जीता, ओलिंपिक कोटा भी हासिल किया

0
shooting world cup

दिव्यांश 2020 टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले चौथे भारतीय निशानेबाज

दिव्यांश का टूर्नामेंट में दूसरा पदक, गुरुवार को अंजुम के साथ मिक्स्ड टीम का गोल्ड जीता था

खेल डेस्क। 16 साल के भारतीय निशानेबाज दिव्यांश सिंह पंवार ने शुक्रवार को चीन की राजधानी बीजिंग में (shooting world cup) चल रहे आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में 10 मीटर एयर राइफल में रजत पदक जीता। इसके साथ ही उन्होंने 2020 टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई भी कर लिया। दिव्यांश ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाले भारत के चौथे निशानेबाज हैं।

उनसे पहले अंजुम मौदगिल, अपूर्वी चंदेला और सौरभ चौधरी भी ओलिंपिक कोटा हासिल कर चुके हैं। अंजुम और अपूर्वी ने वुमन्स 10 मीटर एयर राइफल, जबकि सौरभ ने मेन्स 10 मीटर एयर पिस्टल कैटेगरी में ओलिंपिक कोटा हासिल किया है।

दिव्यांश 0.4 अंक के अंतर से गोल्ड मेडल जीतने से चूके

दिव्यांश महज 0.4 अंक के अंतर से स्वर्ण पदक जीतने से चूक गए। उन्होंने फाइनल में 249 अंक हासिल किए। स्वर्ण (shooting world cup) पदक जीतने वाले चीन के हुई जिचेंग ने 249.4 अंक बनाए। दिव्यांश का इस वर्ल्ड कप में यह दूसरा पदक है। इससे पहले उन्होंने गुरुवार को अंजुम मौदगिल के साथ 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ट टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता था।

दिव्यांश इंडिविजुअल कैटेगरी में पदक जीतने वाले पहले भारतीय

दिव्यांश इस प्रतियोगिता में पहले भारतीय निशानेबाज हैं, जिन्होंने इंडिविजुअल कैटेगरी में पदक जीता है। उनका टूर्नामेंट में यह दूसरा पदक है। उन्होंने गुरुवार को अंजुम मौदगिल के साथ 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम का गोल्ड जीता था। इसके अलावा मनु भाकर और सौरभ चौधरी की भारतीय जोड़ी भी 10 मीटर एयर पिस्टल के मिक्स्ड टीम इवेंट में स्वर्ण पदक जीत चुकी है।

भारत पदक तालिका में शीर्ष पर

इस प्रतियोगिता में भारत के अब दो स्वर्ण समेत 3 पदक हो गए हैं। वह पदक तालिका में शीर्ष पर चल रहा है। रूस एक स्वर्ण समेत 6 पदकों के साथ दूसरे नंबर पर है। मेजबान चीन ने अब तक एक स्वर्ण समेत 4 पदक जीते हैं। वह तीसरे नंबर पर है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें