Delhi: शाहीन बाग का प्रदर्शन देश के लिए मिसाल हो : संजय हेगड़े

0
Sanjay Hegde

आज फिर प्रदर्शनकारियों से मिले वार्ताकार, सीएए के खिलाफ सड़क पर प्रदर्शन कर रही हैं महिलाएं (Sanjay Hegde)

  •  वातार्कार साधना रामचंद्रन बोलीं- शाहीन बाग है और बरकरार रहेगा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार वीरवार को फिर शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने पहुंचे हैं। संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन लगातार दूसरे दिन आज प्रदर्शनकारियों को संबोधित कर रहे हैं। साधना ने वीरवार को प्रदर्शनकारियों से कहा कि आपकी बात सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है और यह मामला सुनवाई के लिए आएगा। आज हम उस मामले पर बात नहीं कर सकते हैं कि फैसला किसके पक्ष में आएगा। साधना रामचंद्रन ने दोहराया है कि आंदोलन करने का हक आपका है, यह सुप्रीम कोर्ट मानता है।

रास्ता भी खुले और आंदोलन भी चलता रहा: साधना

एक याचिका के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट ने हमें आपके पास भेजा है। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि आप शाहीन बाग से उठें। साधना ने कहा कि बंद सड़क को लेकर कोर्ट ने हमें आपके पास भेजा है। हम सभी भारत के नागरिक हैं और हम एक दूसरे को परेशान नहीं कर सकते इसलिए आप लोग समझिए। संजय हेगड़े ने कहा कि आप यह न समझिए कि केवल शाहीन बाग का विरोध है। सुप्रीम कोर्ट देख रहा है कि विरोध प्रदर्शन देशभर के लिए मिसाल होना चाहिए कि वहां प्रोटेस्ट हुआ और जब लोगों को परेशानी हुई तो मिल-बैठकर मसले का हल निकाला गया

पहले दिन नहीं माने प्रदर्शनकारी

  • इससे पहले बुधवार को आंदोलनकारियों से बातचीत हुई थी।
  • पहले दौर की बातचीत किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी।
  • दो महीने से ज्यादा समय से धरना दे रहे आंदोलनकारी फिलहाल सड़क खोलने के लिए तैयार नहीं हैं।
  • वातार्कार के रूप में सीनियर एडवोकेट संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन करीब दो घंटे तक शाहीन बाग में रहे।
  • तीसरे वातार्कार वजाहत हबीबुल्लाह ने इस बात पर जोर दिया कि लोगों की बातें सुनने और समझने के लिए आए हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।