Humanity : शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल का स्टॉफ ड्यूटी के साथ खूनदान कर निभा रहा इन्सानियत का फर्ज

0
Blood-Donation

 गंभीर बिमारी से जूझ रहे पंजाब के मरीज को आई बैंक के स्टॉफ ने एसडीपी डॉनेट कर की इलाज में मदद (Blood Donation)

सच कहूँ/सुनील वर्मा सरसा। शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल के चिकित्सक सहित पूरा स्टॉफ कोरोना महामारी में जहाँ लगातार बिना रूके थके पूरी तन्मयता के साथ अपनी ड्यूटी दे रहा है। वहीं इस महामारी के दौर में जरूरतमंद मरीजों के लिए लगातार खूनदान कर इन्सानियत की मिसाल पेश कर रहे है। इसी कड़ी में शाह सतनाम जी अस्पताल स्थित पूज्य माता करतार कौर जी इंटरनेशनल आई बैंक में कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर आत्माराम इन्सां ने रविवार को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं पर चलते हुए एमरजेंसी केस के दौरान 43वीं बार सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानि एसडीपी डॉनेट कर मानवता का फर्ज अदा किया।उनके इस पुनित कार्य की शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल के तमाम चिकित्सकों, स्टॉफ सदस्यों व मरीज के परिजनों ने मुक्तकंठ से काफी सराहना की। वहीं इस दौरान ब्लड बैंक द्वारा आत्माराम को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया।

Blood-Donation परिजनों ने डेरा सच्चा सौदा व अस्पताल स्टॉफ का जताया आभार

हुआ यूं कि पंजाब के मलोट निवासी विशाल जोकि किसी गंभीर बिमारी के चलते सरसा के सुरक्षा होस्पिटल में दाखिल है तथा जिसके प्लेटलेट्स काफी कम हो गए थे। चिकित्सकों ने मरीज के परिजनों को जल्द बी पॉजिटिव सिंगल डोनर प्लेटलेट्स लेकर आने को कहा। जिस पर वह शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल स्थित पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक में पहुंचे। इसके पश्चात ब्लड बैंक चिकित्सकों ने शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल में ही कार्यरत आत्माराम को एसडीपी डॉनेट करने के लिए संदेश भेजा।

जिसके तुरंत बाद आत्माराम ने ब्लड बैंक में पहुंचकर सिंगल डोनर प्लेटलेट्स डॉनेट किया। एसडीपी डॉनेट करने वाले आत्माराम ने कहा कि उन्हें यह सब शिक्षा डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां से मिली है। उन्होंने आमजन से भी आह्वान किया कि वे इस महामारी के दौर में रक्तदान करने के लिए आगे आए,ताकि रक्त की कमी से किसी की जान न चली जाए।

 परिजन ने जताया आभार

पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक में एसडीपी लेने पहुंचे मरीज के परिजन गुलशन ने आत्माराम सहित अस्पताल स्टॉफ का धन्यवाद करते हुए कहा कि सूना था कि डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी रक्तदान करने के लिए मरीज के पास खुद पहुंच जाते है। लेकिन आज उन्होंने खुद देख भी लिया। आश्चर्य की बात तो यह है कि उन्हें कोई बदले में ब्लड भी नहीं देना पड़ा। डेरा श्रद्धालुओं के साथ-साथ अस्पताल के स्टॉफ सदस्यों की इन्सानियत की भावना काबिले तारीफ है। इन स्टॉफ सदस्यों से अन्य अस्पतालों को प्रेरणा लेनी चाहिए।

पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक की इंचार्ज डॉ. प्रदीप अरोड़ा व ब्लड बैंक के सीनियर टेक्निकल सुपरवाइजर विनोद सहारण ने कहा कि पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा पर चलते हुए शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल के चिकित्सकों सहित पूरा स्टॉफ हर समय रक्तदान सहित मानवता भलाई के कार्य करने के लिए तैयार रहता है। अस्पताल के स्टॉफ सदस्यों की यही भावना उन्हें दूसरों से अलग बनाती है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।