सिवानी उपमंडल को विकास की दरकार

0
Development

शिक्षा, बिजली, पानी व किसानों की समस्याओं का अंबार

सिवानी मंडी(सच कहूँ न्यूज)। सिवानी मंडी तहसील व उपमंडल आज 34 साल बाद भी हरियाणा का सबसे पिछडा क्षेत्र है । सिवानी उपमंडल मेंं शिक्षा, बिजली, पानी व किसानों की समस्याओं का अंबार है लेकिन सरकार है कि सुनती ही नहीं है। उल्लेखनीय है कि सिवानी उपमंडल का गठन 1986 में हुआ था। भिवानी जिले का उपमंडल सिवानी कि जनता क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर बहुत परेशान हैं। बिजली,पीने व खेती के पानी व महिला शिक्षा इस क्षेत्र का मुख्य मुद्दा है और इस के कारण इस क्षेत्र की मुख्य मांग यह है कि सिवानी मंंडी को हिसार जिले में मिलाया जाए क्योंकि इस क्षेत्र के मुख्य कार्य हिसार से सम्बंधित होते हैं।

उपमंडल का दूसरा मुद्दा लड़कियों की शिक्षा को लेकर है

  • क्योंकि सिवानी में महिला महाविद्यालय नहीं होने के कारण छात्राओं को हिसार जाना पड़ता है,
  • लेकिन अभिभावक उन्हें उच्च शिक्षा के लिए हिसार नहीं भेजते हैं
  • इस लिए अधिकतर छात्राओं की शिक्षा छूट जाती है।
  • मार्केट कमेटी की फीस अदा करने भी किसानों के लिए

-अनाज मंडी में किसानों के अनाज रखने के लिए शैड ना होने के कारण किसान परेशान हैं क्योंकि उनकी फसलें बरसात के मौसम में भी खुले आसमान के नीचे खराब हो जाती हैं।

गावों में रोडवेज बस सुविधाओं की मांग

सिवानी खण्ड के गावों में हरियाणा रोडवेज की बसों की व्यवस्था की जाए ताकि लोगों को आने जाने में परेशानी ना हो और सबसे बड़ी मांग किसानों की है कि अंतिम छोर तक सिंचाई का पानी पहुंचाया जाए और ढाणियों तक बिजली की सप्लाई मिलनी चाहिए और हरेक ढाणी तक पक्की सड़क होनी चाहिए। अब हरियाणा में भाजपा की दूसरी बार सरकार बनी है और जनता को विश्वास है कि अब की बार लोगों की समस्याओं का समाधान हो सकता है क्योंकि अबकी बार सरकार ने जनता से अनेक वादे पूरे करने का वायदा किया है ।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।