बंद होने की कगार पर सेवा केंद्र, ई-मेल भेजी

0
  • रोजाना 275 से कम होती हैं एंट्रियां
  • स्टॉफ का जॉब कांट्रेक्ट भी होगा रद्द

Jalandhar, SachKahoon News:  सेवा केंद्र संचालन करने वाली बीएलएस कंपनी ने एक ई-मेल भेजकर पहली जनवरी से उन सेंटरों को बंद करने की बात कही है, जिनमें प्रतिदिन 275 से कम एंट्रियां होती हैं। हैरानी की बात यह है कि शहर के किसी भी सेवा केंद्र में प्रतिदिन इतनी एंट्रियां नहीं होती। कंपनी ने अपनी ई-मेल में कहा है कि बंद होने वाले सेंटर्स के कंप्यूटर आॅपरेटर्स व रनिंग स्टाफ का जॉब कांट्रेक्ट भी रद कर दिया जाएगा।
जिले के शहरी इलाकों में 29 सेवा केंद्र खोले गए थे। इनमें से 14 केंद्र नगर निगम की हद में व बाकी बाहर स्थित हैं। इसके अलावा 111 सेवा केंद्रों की इमारतें पिछले एक साल से तैयार हैं लेकिन यहां सेंटर नहीं खोले जा रहे। जो सेंटर चल रहे हैं, वहां कभी भी 50 से ज्यादा एंट्रियां नहीं होती। कुछ केंद्रों में प्रतिदिन दस आवेदन भी दाखिल नहीं होते।

बंद नहीं होंगे सेवा केंद्र
बीएलएस कंपनी के जालंधर इंचार्ज सरबजीत सिंह का कहना है कि सेवा केंद्र बंद नहीं होंगे। कंपनी के साथ सरकार का पांच साल का करार है, इसलिए सेवा केंद्र बंद नहीं किए जा सकते। कुछ कम एंट्री वाले सेवा केंद्रों में स्टाफ को मोटिवेट करने के लिए कंपनी ने ऐसे निर्देश जारी किए हैं।

मैरिज रजिस्ट्रेशन हुआ बंद
सेवा केंद्रों में मैरिज रजिस्ट्रेशन का काम पहले ही बंद हो चुका है। मैरिज रजिस्ट्रेशन का काम तहसीलों में मैनुअल तरीके से हो रहा है। इसके अलावा कई दूसरी बड़ी सेवाएं भी सेवा केंद्र में नहीं मिल रही। सेवा केंद्र के पास काउंटर साइन की लगभग 1000 फाइलें लंबित पड़ी हुई हैं।