जीवित मिले व्यापारी का सनसनीखेज खुलासा- साथी को शराब पिलाकर जिंदा जलाया, फिर रच दी झूठी साजिश

0
Sensational disclosure of businessman found alive-Drunk partner burnt alive, then hatched a false conspiracy
हिसार। हांसी पुलिस ने 11 लाख रुपये लूटने व जिंदा जलाने की साजिश रचने वाले व्यापारी के पूरे कारनामे का पर्दाफाश कर दिया है। बिलासपुर के अशोक नगर से लाने के बाद पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया, जहां से उसे 7 दिन के रिमांड पर भेज दिया गया। देर सांय हांसी में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस अधीक्षक लोकेन्द्र सिंह ने व्यापारी राममेहर की पूरी साजिश का पर्दाफाश किया। उन्होंने कहा कि पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि राममेहर ने लूट व हत्या की साजिश खुद ही रची थी और उसने घरवालों को भी झूठी सूचना दी थी कि उसके पीछे एक कार व दो मोटरसाइकिल लगे हुए हैं, जो उसके पैसे भी छीनेंगे और मारेंगे। एसपी के अनुसार पूछताछ में उसने बताया है कि घटना के बाद उसने गाड़ी में अपनी पहचान का लोकेट डालकर कार को आग लगा दी व कार के लगभग जलने के बाद वह मौका से खेतो के रास्ते हांसी के लिये पैदल चला तथा रास्ते में अपने नये मोबाइल नंबर का प्रयोग करके अपने साथियों से सामान पैक करके तैयार रहने को कहा। हांसी से वह अपने साथियो के साथ गाड़ी में सवार होकर छतीसगढ के बिलासपुर पहुंच गया, जहां पर हांसी पुलिस ने उसे काबू कर लिया।

7 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ के आधार पर आरोपी राममेहर पर धारा 193, 194, 195, 202, 203, 419, 420 व 436 के तहत केस दर्ज किया गया। इस मामले में उसे 7 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपी राममेहर से बिलासपुर जाने के लिये प्रयोग की गई गाड़ी, बरामद हुए मोबाइल नंबर, एटीएम कार्ड, घटना में शामिल अन्य व्यक्तियों की संलिप्तता, राममेहर की वितीय स्थिति, बीमा पॉलिसी इत्यादि तथ्यों बारे पूछताछ की जाएगी। पुलिस अधीक्षक के अनुसार आरोपी राममेहर ने पूछताछ में बताया है कि कार में मिला नर कंकाल एक व्यक्ति का थी जो उसी के गांव डाटा का ही रहने वाला था। उक्त व्यक्ति को उसने कार में घटना के समय शराब पिलाकर नशे की हालत में करके जिंदा जलाकर मारा था। इस पर पुलिस ने उस पर हत्या की धारा भी जोड़ी है।
डेढ़ करोड़ की बीमा राशि लेने के लिए रचा था नाटक पुलिस अधीक्षक ने बताया कि राममेहर ने यह पूरा नाटक लगभग डेढ़ करोड़ रुपये की बीमा राशि लेने के लिए किया था ताकि कानून की नजर में वह मरा समझा जाए और घरवालों को यह राशि मिल जाए। छतीसगढ़ पहुंचकर वह अपनी एक महिला मित्र से बात कर रहा था कि पुलिस ने पहले महिला मित्र से पूछताछ की और उसकी निशानदेही पर पुलिस ने उसे बिलासपुर से धर दबोचा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।