सोमवार से नौंवी से बाहरवीं के विद्यार्थियों के लिए खुलेंगे स्कूल

0
Schools-will-open

 स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर नियमों का पालन करके तीन घंटे होगी पढ़ाई (Schools will Open) 

सच कहूँ/सुनील वर्मा सरसा। शिक्षा विभाग ने सरकारी व निजी स्कूलों में 2 नवंबर से पढ़ाई करवाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। स्कूलों में कोरोना संक्रमण को देखते हुए तीन घंटे तक ही पढ़ाई करवाई जाएगी। स्कूलों में प्रथम चरण के अंदर नौवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर नियमों का पालन करके पढ़ाई करवानी होगी। स्कूलों में विद्यार्थियों की भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जाएगी। स्कूलों में समय अनुसार सीधे तौर पर विद्यार्थी कक्षा में आएंगे।

स्कूलों को एसओपी करनी होगी तैयार

सरकारी व निजी स्कूलों को पहले खुद की एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) तैयार करनी होगी। जिसमें बताना होगा कि वे स्कूल शुरू होने के बाद किसी तरह बच्चों की कोरोना से सुरक्षा करेंगे। शिक्षा विभाग ने एसओपी तैयार करने के लिए स्कूलों को निर्देश जारी कर दिया है। कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा को लेकर सरकार किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होने देना चाहती है। ऐसे में स्कूलों को भी एसओपी का पालन करने के लिए लिखित सहमति देने को कहा गया है। इसके बाद ही स्कूल संचालित होंगे। राज्य सरकार से एसओपी मिल चुकी है ऐसे में अब शिक्षा विभाग ने स्कूलों से भी अपने स्तर पर एसओपी तैयार करने को कहा है। जिसे मुख्य शिक्षाधिकारी को भेजना
होगा। इसके अलावा स्कूलों को अपने प्रवेश द्वार, नोटिस बोर्ड में इस एसओपी को चस्पा करना होगा।

कोरोना संक्रमण को लेकर रखा जाएगा ध्यान

स्कूलों में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर के नियमों का ध्यान रखना होगा। सरकारी व निजी स्कूलों में तैनात सभी अध्यापकों को कोरोना टेस्ट करवाना जरूरी है। जिस पर अभी तक जिन अध्यापकों ने कोरोना टेस्ट नहीं करवाया है। अध्यापकों को कोरोना टेस्ट करवाना होगी। इसी के साथ स्कूलों में आने वाले अध्यापकों व विद्यार्थियों की गेट पर थर्मल स्कैनिंग से जांच होगी। जिसका तापमान अधिक होगा। स्कूल में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। वहीं स्कूलों में एक कमरे में शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए पढ़ाई करवाई जाएगी।

स्टाफ व विद्यार्थियों को मास्क लगाकर रखना होगा 

सरकारी व निजी स्कूलों में समय समय पर सैनिटाइजर का छिड़काव किया जाएगा। सरकारी स्कूलों में सैनिटाइजर के लिए पहले से ही बजट जारी किया हुआ है। स्कूल में आने वाले विद्यार्थियों व स्टाफ को मास्क लगाकर रखना जरूरी होगी। स्कूलों में व्यवस्था जांचने के लिए समय समय पर जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग के अधिकारी निरीक्षण करेंगे। स्कूलों में किसी प्रकार की लापरवाही मिलने पर कार्रवाई संज्ञान में लाई जाएगी।

स्कूलों में 2 नवंबर से नौवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को पढ़ाई करवाई जाएगी। सरकारी व निजी स्कूलों को पहले खुद की एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) तैयार करनी होगी। जिसके लिए निर्देश जारी कर दिए हैं। स्कूलों में समय समय पर सैनिटाइजर का छिड़काव करवाना जरूरी होगा।
– संतकुमार बिश्नोई, जिला शिक्षा अधिकारी, सरसा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।