बाल कलाकार से कोरियोग्राफर बनीं सरोज खान

0
Choreographer Saroj Khan

मुंबई। बाल कलाकार के तौर पर अपने करियर की शुरूआत कर बॉलीवुड में सभी स्टार्स को अपनी ताल पर नचाने वाली सरोज खान ने कोरियोग्राफर के रूप में अपनी सशक्त पहचान बनायी। बाइस नवंबर 1948 को जन्मीं सरोज खान का असली नाम निर्मला नागपाल है। सरोज खान ने सिर्फ तीन साल की उम्र से ही बाल कलाकार के रूप में फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। उनकी पहली फिल्म नजराना थी जिसमें उन्होंने श्यामा नाम की बच्ची का किरदार निभाया था।पचास के दशक में सरोज ने बतौर बैकग्राउंड डांसर काम करना शुरू कर दिया। सरोज ने फेमस डांसर बी.सोहनलाल से कथक, मणिपुरी, कथकली, भरतनाट्यम आदि नृत्य शैली का प्रशिक्षण लिया और 13 साल की उम्र में उन्होंने 41 साल के सोहनलाल से शादी कर ली। सोहनलाल पहले से ही शादीशुदा और चार बच्चों के पिता थे।

एक इंटरव्यू में सरोज खान ने बताया था कि जब उनकी शादी हुई, उस वक्त वह स्कूल जाया करती थीं। उन्हें शादी के मायने नहीं पता थे। मास्टर सोहनलाल ने उनके गले में एक धागा बांध दिया। उन्हें लगा कि उनकी शादी हो गई है। सरोज खान ने वर्ष 1974 में प्रदर्शित फिल्म ‘गीता मेरा नाम’ से स्वतंत्र कोरियोग्राफर के तौर पर काम करना शुरू किया।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।